पर्वतारोहियों की तलाश: रेस्क्यू टीम ने 21 हजार फिट उंचाई से 7 शवों को बेस कैंप थ्री के पास लाया गया

पिथौरागढ़ में ऑपरेशन डेयर डेविल कामयाबी की तरफ बढ़ रहा है. 26 मई को नंदा देवी में लापता हुए थे सात विदेशी और एक भारतीय

Vijay Vardhan | News18 Uttarakhand
Updated: June 24, 2019, 11:57 AM IST
पर्वतारोहियों की तलाश: रेस्क्यू टीम ने 21 हजार फिट उंचाई से 7 शवों को बेस कैंप थ्री के पास लाया गया
ऑपरेशन डियर डेविल’ के दल ने 21 हजार फिट में 7 पर्वतारोहियों के शवों को खोजने में पाई सफलता
Vijay Vardhan | News18 Uttarakhand
Updated: June 24, 2019, 11:57 AM IST
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में ऑपरेशन डेयर डेविल कामयाबी की तरफ बढ़ रहा है. आईटीबीपी के सर्च और रेस्क्यू टीम ने वो कर दिखाया है, जो अब तक नही हुआ था. टीम ने नंदादेवी ईस्ट में लापता हुए 7 पर्वतारोहियों के शवों को नंदादेवी बेस कैंप थ्री के करीब पहुंचा दिया है. एक पर्वतारोही के बारे में अभी भी कोई जानकारी नही मिल पाई है.

13 जून से शुरू हुआ था ऑपरेशन डेयर डेविल
बता दें कि 26 मई को नंदादेवी में 7 विदेशी और एक भारतीय पर्वतारोही लापता हुए थे, जिन्हें सर्च करने के लिए 13 जून को आईटीबीपी का 32 सदस्यों का दल नंदादेवी को रवाना हुआ था. इस सर्च ऑपरेशन को 'ऑपरेशन डेयर डेविल' का नाम दिया गया था. दल ने रविवार को दोपहर के बाद 21 हजार फिट में 7 शवों को खोजने में सफलता पाई. इन शवों को फिलहाल 18 हजार फिट में मौजूद नंदादेवी बेस कैम्प थ्री में लाया जा रहा है.

असंभव को संभव किया रेस्क्यू टीम ने

जानकारी के मुताबिक रविवार को आईटीबीपी का 20 सदस्यों का दल वहां पहुंचा, जहां पर्वतारोहियों के शव मौजूद थे. बता दें कि 26 मई को नंदादेवी ईस्ट में 4 ब्रिटेन, 2 अमेरिका, एक आस्ट्रेलिया और एक भारतीय पर्वतारोही लापता हुए थे. वहीं नंदादेवी के पर्वतारोहण के इतिहास में ये पहला मौका है जब पर्वतारोहियों के शवों को खोज निकाला गया है.

यह भी पढ़ें- पर्वतारोहियों के रेस्क्यू के लिए आईटीबीपी व एयरफोर्स नया प्लान बना रही
First published: June 23, 2019, 10:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...