Home /News /uttarakhand /

lpg cylinder cost double in outskirts area of pithoragarh localuk

पिथौरागढ़ में गैस सिलेंडर बना 'खिलौना', फिर से चूल्हा जलाने को मजबूर हुईं महिलाएं!

पहाड़ों पर एक सिलेंडर के लिए 2000 रुपये तक चुकाने पड़ते हैं.

पहाड़ों पर एक सिलेंडर के लिए 2000 रुपये तक चुकाने पड़ते हैं.

पिथौरागढ़ जिले में एक सिलेंडर की कीमत 1043 रुपये हो चुकी है. दुर्गम इलाकों में ग्रामीणों को एक सिलेंडर 2000 रुपये तक में मिल रहा है. 

    एक तो लगातार आसमान छू रही महंगाई और दूसरा सीमांत जिले में उचित संसाधनों की कमी, जिसकी दोहरी मार पिथौरागढ़ (Pithoragarh LPG Cylinder) के दूरस्थ इलाकों की जनता को झेलनी पड़ रही है. जनपद में 60 से अधिक ऐसे गांव हैं, जहां गैस सप्लाई की कोई व्यवस्था नहीं है, जिससे दुर्गम इलाके के लोगों के लिए सिलेंडर रीफिल कराना चुनौती बन गया है. उन इलाकों में लोगों को एक सिलेंडर के लिए 2000 रुपये तक चुकाने पड़ रहे हैं.

    सड़क से जुड़ चुके गांवों में सिलेंडर टैक्सियों से ले जाए जा रहे हैं तो जहां सड़क ही नहीं है, वहां मजदूरों की मदद से पहुंचाए जा रहे हैं, जिससे जनता को घर पहुंचते ही सिलेंडर के लिए दोगुनी कीमत तक चुकानी पड़ रही है. धारचूला, मुनस्यारी, कनालीछीना, झूलाघाट में गैस की सप्लाई अभी भी लोगों के लिए परेशानी ही बनी हुई है. वहीं गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ते दामों से भी जनता परेशान है.

    पिथौरागढ़ जिले में एक सिलेंडर की कीमत 1043 रुपये हो चुकी है. दुर्गम इलाकों में ग्रामीणों को एक सिलेंडर 2000 रुपये तक में मिल रहा है.केंद्र सरकार द्वारा पहाड़ की जनता को धुएं से निजात दिलाने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, लेकिन पहाड़ की वर्तमान परिस्थितियों और महंगाई को देखते हुए सीमांत के लोग धुएं में ही जीने को मजबूर हैं.

    सरकार द्वारा ‘उज्ज्वला योजना’ के तहत गैस चूल्हा और सिलेंडर तो मुफ्त बांट दिया गया, लेकिन अब उन गैस सिलेंडर को रीफिल कर पाना लोगों के लिए नामुमकिन होते जा रहा है. यही वजह है कि ग्रामीण चूल्हे पर खाना बनाने को ज्यादा तवज्जो दे रहे हैं, क्योंकि उनके पास इसके अलावा कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर