लाइव टीवी

COVID-19: भारत से नेपाल जाने के सभी रास्ते हुए बंद, उत्तराखंड में फंसे हजारों नेपाली नागरिक
Pithoragarh News in Hindi

Vijay Vardhan | News18 Uttarakhand
Updated: March 24, 2020, 11:51 AM IST
COVID-19: भारत से नेपाल जाने के सभी रास्ते हुए बंद, उत्तराखंड में फंसे हजारों नेपाली नागरिक
नेपाल सरकार ने 5 झूला और 1 मोटर पुल से आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगा दी है.

भारत और नेपाल के बीच तवाघाट से पंचेश्वर तक 5 झूला और बनबसा में 1 मोटरपुल है. इसके अलावा 7 घाट भी हैं जहां दोनों मुल्कों के नागरिक एक-दूसरे के यहां आते-जाते हैं. सभी घाटों को नेपाल सरकार पहले ही बंद कर चुकी है.

  • Share this:
पिथौरागढ़. उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में मजदूरी के लिए पहुंचने वाले नेपाली नागरिक बड़ी तादाद में रहते हैं. कुमाऊं में मजदूरी के अलावा ये नेपाली नागरिक लोगों का सामान घरों तक पहुंचाते और कई घरों में भी काम करते हैं. लेकिन उत्तराखंड सरकार द्वारा कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते खतरे को देख लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान करने के बाद इनके पास स्वदेश वापसी के अलावा कोई चारा नही बचा है. ऐसे में लॉकडाउन का ऐलान होते ही भारी संख्या में नेपाली नागरिकों ने 22 मार्च से ही घर वापसी शुरू कर दी थी, लेकिन 23 मार्च को नेपाल सरकार ने 5 झूला और 1 मोटर पुल से आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगा दी है. इसके चलते नेपाली नागरिकों पर संकट गहरा गया है.

नेपाल सरकार के एकाएक लिए गए इस फैसले से उनके ही नागरिक भारत में फंस गए हैं. उत्तराखंड में लॉकडाउन होने के कारण यहां नेपाली नागरिकों को कोई काम नहीं मिल रहा है. ऊपर से उनके स्वदेश लौटने के रास्तों को नेपाल सरकार ने बंद कर दिया हे. फिलहाल ये भी तय नही है कि नेपाली नागरिक कब अपने मुल्क में वापसी कर पाएंगे.

तवाघाट से पंचेश्वर तक 5 झूला बंद किए

भारत और नेपाल के बीच तवाघाट से पंचेश्वर तक 5 झूला और बनबसा में 1 मोटरपुल है. इसके अलावा 7 घाट भी हैं जहां दोनों मुल्कों के नागरिक एक-दूसरे के यहां आते-जाते हैं. सभी घाटों को नेपाल सरकार पहले ही बंद कर चुकी है.



लॉकडाउन के चलते हम बेरोजगार हो चुके हैं: नेपाली मजदूर

नेपाली मजदूर जनक सिंह का कहना है वो अपने परिवार के साथ पिथौरागढ़ मुख्यालय से झूलाघाट को रवाना हुए थे, लेकिन झूलाघाट पहुंचने पर उन्हें पता चला कि पुल बंद कर दिया गया है. जनक को अब ये समझ नहीं आ रहा है कि वो अब भारत में कैसे अपने परिवार को पाले? क्योंकि लॉकडाउन के कारण सभी काम बंद हैं, ऐसे कहीं भी काम मिल पाना असंभव है. चंपावत डिस्ट्रिक्ट में नेपाल सरकार के साथ ही भारत की ओर से भी पुल बंद कर दिए गए हैं.

वहीं पिथौरागढ़ के डीएम विजय कुमार का कहना है कि जिले में नेपाल को जोड़ने वाले पुलों को भारत की ओर बंद करने का आदेश अभी उन्हें नहीं मिला है.

ये भी पढ़ें: चीन और नेपाल से सटा पिथौरागढ़ NH पांच दिन बाद खुला, लोगों ने ली राहत की सांस

लॉकडाउन से ऋषिकेश में फंसे 12 युवकों को गंगोत्री विधायक ने पहुंचाया उत्तरकाशी 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पिथौरागढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 9:08 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर