• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • पिथौरागढ़ में कोरोना नहीं बल्कि तेंदुए के खौफ से 'नाइट कर्फ्यू' का ऐलान

पिथौरागढ़ में कोरोना नहीं बल्कि तेंदुए के खौफ से 'नाइट कर्फ्यू' का ऐलान

तेंदुए

तेंदुए ने हाल ही में एक बच्ची को अपना निवाला बनाया.

पिथौरागढ़ में गुलदारों का खौफ इस कदर बढ़ गया है कि प्रशासन को यहां नाइट कर्फ्यू लगाना पड़ा है.

  • Share this:

    कानून व्यवस्था भंग होने की वजह से कर्फ्यू तो सभी ने सुना है लेकिन गुलदार के डर से कर्फ्यू लगने की घटना ने सभी को हैरत में डाल दिया है. पिथौरागढ़ में गुलदारों का खौफ इस कदर बढ़ गया है कि प्रशासन को यहां नाइट कर्फ्यू लगाना पड़ा है. पहली बार यह स्थिति इसलिए भी बनी है कि इस साल गुलदार ने तीन बच्चों को अपना निवाला बनाया है.

    पिथौरागढ़ प्रशासन ने शाम 8 बजे से सुबह 6 बजे तक शहर के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है, जबकि पहले कर्फ्यू शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक लगाने का फरमान जारी हुआ था.

    पिछले साल कोविड कर्फ्यू के दौरान 11 लोगों को गुलदार ने अपना शिकार बनाया था. कुछ दिन पहले शहर से लगे बजेटी गांव में तेंदुए ने 8 साल की एक बच्ची को अपना शिकार बनाया. पिछले साल भी इस गांव में दो महिलाओं को गुलदार ने अपना शिकार बनाया था.

    जंगल में भोजन की कमी और जंगलों में इंसानों का बढ़ता दखल गुलदारों को आबादी में घुसने को मजबूर कर रहा है. इस साल की अगर बात करें तो पिथौरागढ़ में तेंदुए अब तक तीन बच्चों और एक महिला को अपना शिकार बना चुके हैं.

    पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी आशीष चौहान ने इंसान और जानवर दोनों की रक्षा करते हुए सुरक्षा की दृष्टि से कर्फ्यू लगाने की बात कही है. वहीं वन विभाग की टीम भी गुलदार की तलाश में जुटी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन