होम /न्यूज /उत्तराखंड /पिथौरागढ़: नहीं जाना पड़ेगा बैंक और ट्रेजरी, पेंशनधारक अब यहां जमा कर सकते हैं अपना जीवित प्रमाणपत्र

पिथौरागढ़: नहीं जाना पड़ेगा बैंक और ट्रेजरी, पेंशनधारक अब यहां जमा कर सकते हैं अपना जीवित प्रमाणपत्र

पेंशन का लाभ लेने वाले ज्यादातर बुजुर्ग होते हैं, जिन्हें पिथौरागढ़ में दूर-दराज के इलाकों से मुख्यालय आकर प्रमाणपत्र जम ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    हिमांशु जोशी

    पिथौरागढ़. भारतीय डाक विभाग ने पेंशनरों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए देश के डेढ़ लाख से अधिक डाकघरों में जीवित प्रमाणपत्र जमा करने की सुविधा दी है. इससे अब पेंशनरों को जीवित प्रमाणपत्र जमा करने के लिए बैंक और ट्रेजरी के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. देश के किसी भी कोने के डाकघर में नागरिक अपना जीवित प्रमाणपत्र जमा कर सकते हैं, जहां से विभाग के द्वारा स्वयं ही संबंधित बैंकों में पेंशन लेने वालों का प्रमाणपत्र भेज दिया जाएगा.

    दरअसल सरकारी पेंशन पाने वाले नागरिकों को हर साल साक्ष्य (सबूत) के रूप में अपना जीवित प्रमाणपत्र ट्रेजरी या बैंक में जमा करना पड़ता है जिसके बाद ही उनकी पेंशन उन्हें सुचारू रूप से मिलती है. पेंशन का लाभ लेने वाले ज्यादातर बुजुर्ग होते हैं, जिन्हें पिथौरागढ़ में दूर-दराज के इलाकों से मुख्यालय आकर प्रमाणपत्र जमा करने में काफी असुविधा होती थी, लेकिन डाक विभाग की इस सेवा से अब वो सभी अपने आसपास के डाकघरों में जीवित प्रमाणपत्र जमा कर पाएंगे.

    पिथौरागढ़ डाकघर के डाक अधीक्षक ललित जोशी ने इस बात की जानकारी देते हुए इस सुविधा को पहाड़ों में रहने वाले लोगों के हित में बताया.

    पिथौरागढ़ डाकघर में अपना जीवित प्रमाणपत्र जमा करने आए बुजुर्ग भोला सिंह ने कहा कि डाकघर में उनका प्रमाणपत्र आसानी से जमा हो गया, जबकि बैंक में उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ता था. यह सुविधा पेंशन धारकों के लिए काफी राहत पहुंचाने वाली है.

    बता दें कि पिथौरागढ़ क्षेत्रफल के हिसाब से काफी बड़ा जिला है. यहां की 60 प्रतिशत जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है और सभी का मुख्यालय पिथौरागढ़ नगर है. ग्रामीणों को हर दस्तावेजी काम के लिए मुख्यालय आना पड़ता है. अधिकतर सेवानिवृत्त (रिटायर्ड) सरकारी कर्मचारी ग्रामीण क्षेत्रों में रहते हैं, जिन्हें डाकघर की इस सेवा से आसानी होगी.

    Tags: Life certificate for pensioners, Pithoragarh news, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें