Home /News /uttarakhand /

पिथौरागढ़ में बारिश का कहर थमने के बाद शुरू हुआ मुश्किलों का दौर!

पिथौरागढ़ में बारिश का कहर थमने के बाद शुरू हुआ मुश्किलों का दौर!

गांव

गांव में मलबा हटाने में जुटी जेसीबी मशीन.

भारी बारिश से पिथौरागढ़ जिले के कुल 44 मुख्य एवं ग्रामीण संपर्क मार्ग मलबा आने से बंद हो गए थे. 

    पिथौरागढ़ (Pithoragarh Rain) में लगातार तीन दिन तक हुई बारिश ने जिले में भारी तबाही मचाई है. अब बारिश थम चुकी है लेकिन मुसीबतें कम नहीं हुई हैं. जिले के कुछ हिस्सों में संचार व्यवस्था अभी भी बाधित है. इंटरनेट कनेक्टिविटी की वजह से बैंकों का कामकाज प्रभावित हुआ, जिससे बैंक आए ग्राहकों को मायूस लौटना पड़ा. रोडवेज स्टेशन पर सवारी बसों का इंतजार करती रहीं. मुख्य मार्ग बंद होने से जिले में पेट्रोल-डीजल की भी किल्लत देखने को मिली. वहीं बाजार में सब्जियों के भाव भी बढ़ गए हैं.

    भारी बारिश से पिथौरागढ़ जिले के कुल 44 मुख्य एवं ग्रामीण संपर्क मार्ग मलबा आने से बंद हो गए थे. युद्ध स्तर पर कार्य किए जाने के बाद कुछ मार्ग खोले जा सके हैं. जिलाधिकारी डॉक्टर आशीष चौहान ने सड़क निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बंद मार्गों को कम से कम समय में खोला जाए. जिलाधिकारी ने खुद भी मौके पर पहुंचकर मलबा हटाने के कार्यों का जायजा लिया.

    बताते चलें कि भारी बारिश से गुरना, दिल्ली बैंड, मीना बाजार और घाट बैंड के पास सड़क बंद हो गई थी. गुरना में आया मलबा हटा दिया गया है.

    Tags: Pithoragarh news, Snowfall in Uttarakhand, Uttarakhand Disaster, Uttarakhand Flood, Uttarakhand news, Uttarakhand Rain

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर