Home /News /uttarakhand /

pithoragarh 450 schools no electricity since the formation of uttarakhand localuk

उत्तराखंड बन गया लेकिन आज तक पिथौरागढ़ के 450 स्कूलों में नहीं पहुंची बिजली, 'अंधेरे' में छात्रों का भविष्य!

X

पिथौरागढ़ जिले में 450 ऐसे विद्यालय हैं, जो राज्य स्थापना के बाद से ही अभी तक बिजली की सुविधा से वंचित हैं.

    रिपोर्ट- हिमांशु जोशी, पिथौरागढ़

    सीमांत जनपद पिथौरागढ़ (Pithoragarh Education News) में शिक्षा व्यवस्था सवालों के घेरे में है. जनपद की शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए सरकार कितनी गंभीर है, इसका अंदाजा राज्य गठन के बाद ही यहां की शिक्षा व्यवस्था को देखकर लगाया जा सकता है. सीमांत जिले में स्कूल तो खोल दिए गए लेकिन स्कूलों में शिक्षा का स्तर गर्त में है. दरअसल जिले में 450 ऐसे विद्यालय हैं, जो राज्य स्थापना के बाद से ही अभी तक बिजली की सुविधा से वंचित हैं.

    काफी ज्यादा संख्या में यह आंकड़ा होने के कारण जिले के हजारों छात्रों का भविष्य अंधेरे में है. लंबे समय से इन विद्यालयों में पड़ने वाले छात्र तकनीकी शिक्षा से कोसों दूर हैं, जो आज के दौर में छात्रों के बेहतर भविष्य के लिए बेहद जरूरी है.

    नाजुक हालत में सरकारी स्कूल

    पिथौरागढ़ जिले में सरकारी स्कूलों की नाजुक हालत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां 450 विद्यालयों में अभी तक बिजली ही नहीं पहुंच पाई है, जो वाकई में हैरान करने वाला है. बिना बिजली छात्र तकनीकी शिक्षा से कोसों दूर हैं. अधिकतर बिजली से वंचित विद्यालय सीमांत के दूरस्थ इलाकों के हैं, जहां कंप्यूटर जैसी महत्वपूर्ण चीजों से छात्र वंचित है, जो जिले की शिक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान पैदा करता है.

    बिन बिजली अंधकार में छात्रों का भविष्य

    छात्रों के पास तकनीकी ज्ञान की कमी के कारण उन्हें इंटर के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखने में काफी दिक्कतें होती हैं, जिससे छात्रों का भविष्य बिन बिजली के अंधकार में जा रहा है. साथ ही जिले में प्रधानाचार्य, अध्यापक, प्रवक्ता के पद भी लंबे समय से रिक्त पड़े हैं, जिन्हें भरने को शासन स्तर से अभी कोई प्रयास नहीं किया गया है. जिसका सीधा असर कहीं न कहीं पिथौरागढ़ के सरकारी स्कूलों से विद्या प्राप्त करने वाले छात्रों पर पड़ रहा है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर