पिथौरागढ़: नए साल के पहले दिन कांग्रेस ने बनाया हवाई सेवा को मुद्दा, किया प्रदर्शन

प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता.

प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता.

कांग्रेस (Congress) का कहना है कि जिले की हवाई सेवा बीते 9 महीनों से बंद है, लेकिन सरकार की ओर से इसे शुरू करने की कोई कोशिश नहीं हो रही है.

  • Share this:

पिथौरागढ़. चीन और नेपाल (China And Nepal) से सटे पिथौरागढ़ (Pithoragarh) तक पहुंचना आसान नहीं है. पहाड़ी जिले की पहुंच आसान बनाने के लिए हवाई सेवा बीते दो दशकों से मुद्दा बनी हुई है. कभी इस मुद्दे को लेकर भाजपा ने कांग्रेस को घेरा तो अब चुनावी साल में कांग्रेस हवाई सेवा (Air service) के मुद्दे पर अपनी चुनावी उड़ान भरना चाह रही है. कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने साल के पहले दिन नैनी-सैनी एयरपोर्ट में घरना-प्रदर्शन किया. कांग्रेस (Congress) का कहना है कि जिले की हवाई सेवा बीते 9 महीनों से बंद है, लेकिन सरकार की ओर से इसे शुरू करने की कोई कोशिश नहीं हो रही है. 20 मार्च को रन-वे में हैरिटेज एविएशन का प्लेन फिसल गया था. जिसके बाद हवाई सेवा पूरी तरह बंद पड़ी है. 2 साल पहले शुरू हुई हवाई सेवा कई मौकों पर बंद हुई थी. एक बार हैरिटेज एविएशन के प्लेन का दरवाजा हवा में ही खुल गया था. जिसके बाद प्लेन की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हुए थे.

पूर्व विधायक और कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मयूख महर का कहना है कि हवाई सेवा को बहाल करने के मुद्दे पर न क्षेत्रीय सांसद कुछ बोल रहे हैं न विधायक और नहीं प्रदेश सरकार. महर कहते हैं कि भाजपा सरकार ने हवाई सेवा के नाम पर सीमांत के लोगों के साथ छलावा किया है. जिसका जवाब यहां की जनता उन्हें विधानसभा चुनावों में देगी. नैनी-सैनी एयरपोर्ट को उड़ान योजना में शामिल किया गया था. जिसके बाद पिथौरागढ़ से गाजियाबाद और देहरादून के लिए नियमित उड़ान शुरू की गई. लेकिन हैरिटेज एविएशन के एकमात्र 9 सीटर प्लेन के सहारे चलने वाली हवाई सेवा शुरूआत से भी दम तोड़ती नजर आई.

Youtube Video

हवाई सेवा बहाल कराने का भरोसा दिलाया है
बीते सालों में बमुश्किल हवाई सेवा 4 महीने ही ठंग से संचालित हुई. वहीं, स्थानीय विधायक चंद्रा पंत कहतीं हैं कि हवाई सेवा को बहाल कराने के लिए उन्होनें मुख्यमंत्री से वार्ता की है. सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने उन्हें जल्द हवाई सेवा बहाल कराने का भरोसा दिलाया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज