• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • Pithoragarh Weather Update: भारी बारिश से धारचूला में कई जगह भूस्खलन, चीन सीमा से लगती सड़कों का बुरा हाल

Pithoragarh Weather Update: भारी बारिश से धारचूला में कई जगह भूस्खलन, चीन सीमा से लगती सड़कों का बुरा हाल

जगह-जगह हुए लैंडस्लाइड के कारण दारमा घाटी को जोड़ने वाली सड़क 68 दिनों से बंद है.

जगह-जगह हुए लैंडस्लाइड के कारण दारमा घाटी को जोड़ने वाली सड़क 68 दिनों से बंद है.

Uttarakhand News: लगातार मूसलाधार बारिश और भूस्‍खलन के चलते चीन सीमा तक जाने वाली कई सड़कें क्षतिग्रस्‍त हो चुकी हैं. कई इलाकों का तो सड़क संपर्क तक टूट गया है.

  • Share this:

पिथौरागढ़. उत्‍तराखंंड के पिथौरागढ़ जिले (Pithoragarh District) की बॉर्डर तहसीलों में लगातार आफत की बारिश बरस रही है. मूसलाधार बारिश से रास्ते तो बंद हैं ही साथ ही कई जगहों पर हो रहे लैंडस्लाइड (Landslide) के कारण आमलोगों को भी खतरों का सामना करना पड़ रहा है. बलुआकोट में एक महिला भारी मलबे में दब गई. धारचूला तहसील के अलघारा में भारी लैंडस्लाइड हुआ है, जिस कारण चीन बॉर्डर को जोड़ने वाली तवाघाट रोड बंद है. लैंडस्लाइड में आए भारी मलवे के कारण निचले इलाकों के 20 मकानों पर खतरा मंडरा रहा है. स्थानीय प्रशासन ने 12 मकानों को तत्काल खाली करने का आदेश दिया है. बलुआकोट में इलाके में भी भूस्खलन हुआ है. जोशी गांव (Joshi Village) में हुए भूस्खलन के कारण 13 मकान खतरे की जद में आ गए हैं. इसकी चपेट में आने से एक महिला लापता है. महिला को खोजने के लिए एसडीआरएफ ने सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन मलबा बहुत ज्यादा होने के कारण महिला को खोज पाना आसान नहीं है.

बॉर्डर की सड़कों का हो चुका बुरा हाल
मुनस्यारी के जैंती गांव में एक नाले में कार फंस गई. स्थानीय लोगों की मदद से जैसे-तैसे कार को निकाल गया. वहीं, टिमटिया में भी भारी लैंडस्लाइड हुआ है. पहाड़ से भरभराकर मलबा गिरने के कारण सड़क पूरी तरह से बोल्डर्स में दब गई है. खैरियत इस बात की थी कि जिस समय पहाड़ी भरभराकर गिरी, उस वक्त कोई वहां नहीं था. लगातार बारिश और भूस्‍खलन से चीन की सीमा से लगती सड़कें खस्‍ता हाल हो गई हैं.

चीन सीमा से लगते इलाकों में जीना मुहाल
जगह-जगह हुए लैंडस्लाइड के कारण दारमा घाटी को जोड़ने वाली सड़क 68 दिनों से बंद हैं, जबकि चाइना बॉर्डर को जोड़ने वाली लिपुलेख रोड भी कई जगह लैंडस्लाइड होने से हफ्ते भर से बंद है.आसमान से बरस रही आफत ने बॉर्डर की तहसीलों में रहने वालों की जिंदगी पटरी से उतार दी है. आपदा प्रबंधन अधिकारी भूपेन्द्र महर का कहना है कि सभी तहसीलों को अलर्ट मोड में रहने को कहा गया है. साथ ही एसडीआऱएफ को भी एक्टिव रहने को कहा गया है. सड़कों को खोलने काम युद्ध स्तर पर चल रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज