होम /न्यूज /उत्तराखंड /Pithoragarh: रेनबो ट्राउट मछली पालन में गजब का मुनाफा, किसान हो रहे मालामाल, जानें 1KG का रेट

Pithoragarh: रेनबो ट्राउट मछली पालन में गजब का मुनाफा, किसान हो रहे मालामाल, जानें 1KG का रेट

Rainbow trout Fish: पिथौरागढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में नॉर्थ अमेरिकी प्रजाति की रेनबो ट्राउट मछली के उत्पादन से किसान मा ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- हिमांशु जोशी

Rainbow trout Fish: उत्तराखंड के सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के किसानों के लिए मछली पालन फायदे का सौदा साबित हो रहा है. यहां के ग्रामीण क्षेत्रों में नॉर्थ अमेरिकी प्रजाति की रेनबो ट्राउट मछली (Rainbow Trout Fish) के उत्पादन से किसानों की बढ़िया आमदनी हो रही है. रेनबो ट्राउट फिश के पालन के लिए ठंडी जलवायु और बहता हुआ पानी चाहिए होता है, जो यहां के ग्रामीण परिवेश के हिसाब से अनुकूल है. मत्स्य विभाग द्वारा पिथौरागढ़ में रेनबो ट्राउट उत्पादन का प्रयास किया गया था, जो सफल होता दिख रहा है. वर्तमान में जनपद के कई किसान ट्राउट मछली का उत्पादन कर रहे हैं.

मछली पालन से जुड़े दीप गर्ब्याल ने बताया कि उन्होंने लॉकडाउन के समय विभाग से मदद लेकर अपने गांव धारचूला में ट्राउट मछली का उत्पादन शुरू किया था और आज उनका टर्न ओवर 50 लाख रुपये तक पहुंच गया है. इसमें 20 लाख रुपये की आय उन्होंने अर्जित की है. रेनबो ट्राउट फिश की कीमत इस समय बाजार में 700 से 800 रुपये प्रति किलो है. दीप गर्ब्याल ‘हिमालयन रेनबो ट्राउट’ नाम से मछली की वैक्यूम पैकिंग करके दिल्ली के बाजारों में बेच रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने अपने साथ 10 अन्य लोगों को भी रोजगार दिया है.

पिथौरागढ़ में हो रहा 7 टन से ज्‍यादा ट्राउट मछली का उत्‍पादन
पिथौरागढ़ मत्स्य पालन विभाग के मुख्य निरीक्षक आजाद शाह बताते हैं कि इस समय जनपद में 7 टन से ज्यादा ट्राउट मछली का उत्पादन हो रहा है, जिससे 40 किसान इस व्यवसाय से जुड़े हैं. इस मछली की मांग अधिक होने से इसकी कीमत भी किसानों को बढ़िया मिल रही है. अब किसानों की आय को और बढ़ाने के लिए ट्राउट मछली को ऑनलाइन भी बेचा जाएगा, जिसके लिए एचआरटी फिश डिलीवरी नाम से ऐप बनाया गया है, जिस पर लोग सीधे रेनबो ट्राउट को ऑनलाइन मंगा सकते हैं. इसके साथ उन्होंने बताया कि जनपद में रेनबो ट्राउट के अलावा कार्प, पंगेशियस मछली के उत्पादन को भी बढ़ावा देकर यहां के किसानों की आय में वृद्धि करने की हर कोशिश विभाग द्वारा की जा रही है.

Tags: Fisheries, Pithoragarh news, Trout Fish Farming

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें