बॉर्डर के इलाकों को मोबाइल नेटवर्क से जोड़ रहा है रिलायंस Jio, नेपाली सिम की नहीं होगी जरूरत
Pithoragarh News in Hindi

बॉर्डर के इलाकों को मोबाइल नेटवर्क से जोड़ रहा है रिलायंस Jio, नेपाली सिम की नहीं होगी जरूरत
. अब केंद्र सरकार की पहल पर रिलांयस जियो बॉर्डर के 7 गांवों को मोबाइल कनेक्टिविटी देने जा रहा है. (फ़ाइल फ़ोटो)

बॉर्डर के 7 गांवों को मोबाइल कनेक्टिविटी देने के लिए रिलांयस जियो धारचूला में 4 और मुनस्यारी तहसील में 3 टावर लगा रहा है. अभी इस इलाके में सैटेलाइट फोन के जरिए लोगों को एक मिनट की कॉल के लिए देना पड़ता है 12 रुपए.

  • Share this:
पिथौरागढ़. उत्तराखंड का बॉर्डर डिस्ट्रिक्ट पिथौरागढ़ (Pithoragarh) भले ही सामरिक नज़रिये से अहम हो, लेकिन यहां संचार सेवाओं का बहुत बुरा हाल है. हालात इस कदर खराब हैं कि धारचूला से गर्ब्यांग तक का इलाका नेपाली मोबाइल नेटवर्क के जरिए शेष दुनिया से जुड़ने को मजबूर है. बावजूद इसके दारमा, ब्यास, चौदास और जौहार घाटी के दर्जनों गांवों के लिए संचार सेवा आज भी सपना है. अब केंद्र सरकार की पहल पर रिलांयस जियो (Reliance Jio) बॉर्डर के 7 गांवों को मोबाइल कनेक्टिविटी देने जा रहा है.

यहां लग रहे हैं टावर 

रिलायंस जियो धारचूला में 4 और मुनस्यारी तहसील में 3 टावर लगाने जा रहा है. धारचूला तहसील में सिर्खा, जिप्ति, दर और सोबला, जबकि मुनस्यारी में बोना, बिल्जू और मिलम में मोबाइल टावर लगने हैं. जियो ने बॉर्डर इलाकों में मोबाइल टावर लगाने के लिए जिप्ति, दर और सिर्खा में जमीन मालिकों के साथ अग्रीमेंट भी कर लिया है जबकि सोबला में सर्वे का काम चल रहा है.



जिप्ति के ग्राम प्रधान धर्मेंद्र सिंह मोबाइल टावर लगने से खासे उत्साहित हैं. धर्मेंद्र का कहना है कि अपने देश की मोबाइल कनेक्टिविटी मिलने से बॉर्डर के लोगों की नेपाली मोबाइल नेटवर्क पर निर्भरता खत्म होगी. साथ ही उपभोक्ताओं का पैसा भी बचेगा.

15 हज़ार लोगों को सीधा फ़ायदा 

नेपाली नेटवर्क के ज़रिए अपने ही देश में लोगों को बात करने के लिए आईएसडी का सहारा लेना पड़ता है. इसकी वजह से एक मिनट की कॉल के लिए लोगों को 12 रुपये खर्च करने होते हैं. रिलायंस जियो के टावर लगने के बाद बॉर्डर के इलाकों में संचार सेवा तो बेहतर होगी ही, साथ ही लोग इंटरनेट से भी जुड़ सकेंगे.

7 मोबाइल टावर लगने से उम्मीद है कि तकरीबन 15 हजार लोगों को सीधा लाभ मिलेगा. यही नहीं धारचूला के जिन इलाकों में रिलायंस जियो टावर लगा रहा है, वे प्रसिद्ध कैलाश-मानसरोवर यात्रा मार्ग भी हैं. ऐसे में हर साल हजारों की संख्या में यात्रा में शामिल होने वाले तीर्थ यात्रियों को भी आने वाले दिनों में संचार सेवा का फायदा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading