Home /News /uttarakhand /

पाकिस्तानी नागरिकों को भा रहा है ऋषिकेश, 15 ने मांगी भारत की नागरिकता

पाकिस्तानी नागरिकों को भा रहा है ऋषिकेश, 15 ने मांगी भारत की नागरिकता

पिछले तीन सालों में करीब 15 पाकिस्तानी हिंदुओं ने भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया है. हालांकि इनमें से किसी पर भी अभी तक निर्णय नहीं हो पाया है.

पिछले तीन सालों में करीब 15 पाकिस्तानी हिंदुओं ने भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया है. हालांकि इनमें से किसी पर भी अभी तक निर्णय नहीं हो पाया है.

पिछले तीन सालों में करीब 15 पाकिस्तानी हिंदुओं ने भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया है. हालांकि इनमें से किसी पर भी अभी तक निर्णय नहीं हो पाया है.

    धार्मिक यात्रा पर भारत आए कई पाकिस्तानी नागरिकों को भारत की धरती इतनी अच्छी लगी कि वह यहां से जाना ही नहीं चाहते. पिछले तीन सालों में करीब 15 पाकिस्तानी हिंदुओं ने भारत की नागरिकता के लिए आवेदन किया है. हालांकि इनमें से किसी पर भी अभी तक निर्णय नहीं हो पाया है. अब जब भारत में बसे पाकिस्तान के अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों को भारत में संपत्ति खरीदने का अधिकार मिलने जा रहा है तो यहां और भी पाकिस्तानी परिवारों के नागरिकता के लिए आवेदन बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है.

    पाकिस्तान से भारत आने वाले अधिकतर हिंदू नागरिक धार्मिक यात्रा के लिए वीजा लेकर आते हैं. देहरादून जिले के अंतर्गत आने वाले धार्मिक शहर ऋषिकेश में बड़ी संख्या में हर साल पाकिस्तानी श्रद्धालु आते हैं. तीर्थनगरी ऋषिकेश और देवभूमि उत्तराखंड के अन्य धामों को देखने के बाद कई पाकिस्तानियों का यहां से अपने वतन लौटने का मन ही नहीं करता है.

    पिछले तीन ही सालों की बात करें तो करीब 15 पाकिस्तानी नागरिकों ने भारत में बसने के लिए देहरादून जिला प्रशासन को आवेदन किया है. इसी महीने भी एक पाकिस्तानी नागरिक का आवेदन आया है. जिला प्रशासन के माध्यम से इन लोगों ने नागरिकता देने की मांग भारत सरकार से की है.

    प्रशासन पुलिस से जांच मांगता है. स्थानीय प्रशासन के मुताबिक औपचारिता के बाद इस तरह के मामले शासन को भेजे जाते हैं. गौरतलब है कि शासन स्तर पर प्रक्रिया पूरी करने के बाद इन मामलों को भारत सरकार को भेजा जाता है. केंद्र के स्तर से ही इन मामलों मेंं अंतिम निर्णय लिया जाता है. हालांकि सूत्र बताते हैं कि पिछले कई सालों में जिले से भेजे गए पाकिस्तानी नागरिकों के एक भी आवेदन पर अभी तक केंद्र की सहमति नहीं मिली है.

    दिल्ली में रहने का ठिकाना मिला
    हजारों पाकिस्तान हिंदू दिल्ली में रह रहे हैं. पाकिस्तान हिंदुओं को भारत की नागरिकता दिलाने के लिए संघर्ष कर रहे दिल्ली पुलिस के सेवानिवृत्त अधिकारी नाहर सिंह ने दिल्ली से फोन पर बताया कि उन्होंने 940 पाकिस्तानी हिंदुओं को शरण दे रखी थी. वह इन पाकिस्तानी हिंदुओं के लिए भारत की नागरिकता की मांग कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि सरकार ने नागरिकता तो नहीं दी लेकिन इतनी राहत जरुर है कि इनको लॉगटर्म वीजा मिल गया है. सरकार की ओर से इनके रहने के लिए जगह भी दी गई है.

    यहां के रीति-रिवाजों में रम गए पाकिस्तानी
    पाकिस्तानी हिंदू यहां के रीति-रिवाजों में रम गए हैं. विश्व की अनोखी धार्मिक यात्रा कांवड़ यात्रा को देखकर पाकिस्तान गदगद हो उठे थे। जुलाई-अगस्त 2015 में पाकिस्तानी हिंदुओं का जत्था कांवड़ लेने हरिद्वार आया था. इस जत्थे में शामिल पाकिस्तानी हिंदुओं ने दिल्ली के शिवालयों में श्रावण मास की शिवरात्रि पर भगवान शिव का जलाभिषेक किया था.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर