Home /News /uttarakhand /

पिथौरागढ़ के इन इलाकों में संचार सेवा आज भी दूर की कौड़ी, 10 किमी दूर जाकर मिलता है नेटवर्क!

पिथौरागढ़ के इन इलाकों में संचार सेवा आज भी दूर की कौड़ी, 10 किमी दूर जाकर मिलता है नेटवर्क!

गांव

गांव के लोगों को आज भी संचार सेवा का इंतजार है.

स्थानीय लोगों को नेटवर्क क्षेत्र में आने के लिए 10 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करनी पड़ती है.

    डिजिटल इंडिया, जहां पर एक तरफ पूरा देश 5G की तैयारियों में लगा हुआ, वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड के सीमांत जिले पिथौरागढ़ में आज भी कुछ गांव ऐसे हैं, जो दशकों से संचार सेवा के लिए गुहार लगा रहे हैं.आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर जहां पूरा देश ‘अमृत महोत्सव’ मना रहा है, वही उत्तराखंड के दूरस्थ इलाके अभी भी सड़क, शिक्षा और संचार जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं.

    इस वजह से इन इलाकों में रहने वालों की जिंदगी अभी भी गुलामी के दौर में रहने जैसी बनी हुई है, जिन्हें नेटवर्क क्षेत्र में आने के लिए 10 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करनी पड़ती है, तब जाकर वह अपनी आपातकालीन सूचनाएं दूसरों तक पहुंचा सकते हैं.

    कोरोना काल में जहां पूरे देश में ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था की गई, तो वहीं पिथौरागढ़ के मुनस्यारी के दूरस्थ इलाकों में जहां पर संचार सेवा ही नहीं है, जिस कारण यहां पर छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई पर पूरी तरीके से अंकुश लगा है, जिससे छात्रों के भविष्य पर गंभीर असर भी पड़ रहा है और कहीं न कहीं शिक्षा के अधिकार से छात्र वंचित हो रहे हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर