Lockdown: उत्तराखंड घूमने आए सैलानियों को है घर वापसी का इंतजार
Pithoragarh News in Hindi

Lockdown: उत्तराखंड घूमने आए सैलानियों को है घर वापसी का इंतजार
पिथौरागढ़ में फंसे टूरिस्ट

पिथौरागढ़ के डीएम विजय जोगदंडे से बातचीत की तो उनका कहना है कि जब तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू है सैलानियों की वापसी कठिन है. लेकिन फंसे लोगों की मदद के लिए प्रशासन हर संभव कोशिश कर रहा है.

  • Share this:
पिथौरागढ़. पश्चिम बंगाल (West Bengal), महाराष्ट्र (Maharashtra), चंडीगढ़ (Chandigarh) जैसे राज्यों से उत्तराखंड घूमने आए सैलानियों (Tourists) के दल ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि पहाड़ (Mountains) की खूबसूरती को निहारने की चाहत उन पर इस कदर भारी पड़ेगी कि उन्हें महीने भर से भी लंबे समय के लिए यहीं कैद हो जाना पड़ेगा. दरअसल बंगाली सैलानियों का 27 सदस्यों का एक दल चौकोड़ी घूमकर मुनस्यारी जाने वाला था. उसी दौरान वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) घोषित हो गया और वो न तो मुनस्यारी जा सके और न ही उनकी घर वापसी हो पा रही है.

शूटिंग के लिए आई टीम बेरीनाग में फंसी
लॉकडाउन घोषित होने के बाद सैलानियों का दल यहीं फंस गया. जबकि 10 सैलानियों का दूसरा दल मुनस्यारी से लौटने के बाद चौकोड़ी में फंसा हुआ है. दोनों दल चौकोड़ी में अलग-अलग होटल्स में रुके हैं. जबकि फ़िल्म की शूटिंग करने आई 21 लोगों की टीम भी बेरीनाग में फंसी है. इस टीम में दक्षिण भारत, महाराष्ट्र और चंडीगढ़ के लोग हैं. ये लोग साउथ की एक फ़िल्म को शूट कर रहे थे. फंसे सैलानियों लोगों में कुछ छोटे बच्चे हैं तो कई सीनियर सिटीजन भी हैं. सीनियर सिटीजन में कुछ बीमार भी बताएं जा रहे हैं. पश्चिम बंगाल के आसनसोल के रहने वाले शांतनु का कहना है कि उनका प्लान पहाड़ में हफ्ते भर घूमने के बाद लौटने का था, लेकिन लॉकडाउन के कारण वो एक महीने से अधिक समय से यहीं फंसे हैं. साथ ही शांतनु का कहना है कि उनके दल में कुछ लोग बीमार भी हैं जिस कारण दिक्कत ज्यादा हो रही है. महीने भर से फंसे होने के कारण उनके पास पैसे भी खत्म हो गए हैं.

प्रशासन कर रहा मदद



यहां फंसे सैलानियों ने स्थानीय प्रशासन से घर वापसी में मदद की गुहार लगाई है. इस मामले में जब News 18 संवाददाता ने पिथौरागढ़ के डीएम विजय जोगदंडे से बातचीत की तो उनका कहना है कि जब तक लॉकडाउन लागू है सैलानियों की वापसी कठिन है. लेकिन फंसे लोगों की मदद के लिए प्रशासन हर संभव कोशिश कर रहा है. सैलानियों के भोजन का इंतजाम तो सरकारी तंत्र कर ही रहा है, साथ ही बीमार लोगों का मेडिकल चेकअप भी कराया जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक प्रशासनिक अधिकारियों की पहल पर होटल का किराया भी काफी कम कराया गया है. फंसे सैलानियों का कहना है कि अब बस जल्दी से लॉकडाउन खत्म हो जाए ताकि वो अपने घर पहुंच सकें.



ये भी पढ़ें- Lockdown: 1070 पर अजब-गजब शिकायतें, किसी को चाहिए बासमती चावल तो अपात्र को भी बनवाना है राशन कार्ड !
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading