Home /News /uttarakhand /

पिथौरागढ़-नेपाल बॉर्डर पर बेरोक-टोक आवाजाही बंद, कोरोना के मद्देनजर बरती जा रही सख्ती

पिथौरागढ़-नेपाल बॉर्डर पर बेरोक-टोक आवाजाही बंद, कोरोना के मद्देनजर बरती जा रही सख्ती

नेपाल के नागरिकों से पिथौरागढ़ बॉर्डर पर मांगी जा रही है कोरोना टेस्ट रिपोर्ट.

नेपाल के नागरिकों से पिथौरागढ़ बॉर्डर पर मांगी जा रही है कोरोना टेस्ट रिपोर्ट.

Conditional Movement : डीएम आशीष चौहान ने बताया कि धारचूला से लेकर झूलाघाट तक सभी झूलों से सिर्फ उन्हीं नेपाली नागरिकों को भारत में प्रवेश करने दिया जा रहा है, जिनकी 15 दिनों के भीतर की कोविड टेस्ट रिपोर्ट नगेटिव हो या फिर जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ली हों. डीएम ने ये भी बताया कि इस बारे में सभी संबंधित एसडीएम को निर्देशित किया जा चुका है और नेपाल के बैतड़ी और दार्चुला के जिला प्रमुखों को भी सूचित किया गया है. बॉर्डर पर एसएसबी और हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें लगाई गई हैं.

अधिक पढ़ें ...

पिथौरागढ़. बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नेपाल बॉर्डर पर भारतीय प्रशासन ने सख्ती कर दी है. अब नेपाल से उन्हीं लोगों को भारत आने दिया जा रहा है. जो मानकों को पूरा करते हैं. यही नहीं, संक्रमण रोकने के लिए सैंप्लिंग भी बढ़ाई जा रही है.

पिथौरागढ़ में नेपाल से तकरीबन 150 किलोमीटर का बॉर्डर लगा है. इस खुले बॉर्डर के 6 स्थानों पर झूलापुलों के जरिए दोनों मुल्कों को जोड़ा गया है. आमतौर पर इन पुलों से नियत समय तक बेरोक-टोक आवाजाही होती है. लेकिन बीते कुछ दिनों से कोरोना के बढ़ते मामलों और नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की आशंका के मद्देनजर नेपाली नागरिकों के भारत में प्रवेश पर सख्ती बरती जा रही है.

पिथौरागढ़ के डीएम आशीष चौहान ने बताया कि धारचूला से लेकर झूलाघाट तक सभी झूलों से सिर्फ उन्हीं नेपाली नागरिकों को भारत में प्रवेश करने दिया जा रहा है, जिनकी 15 दिनों के भीतर की कोविड टेस्ट रिपोर्ट नगेटिव हो या फिर जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ली हों. डीएम ने ये भी बताया कि इस बारे में सभी संबंधित एसडीएम को निर्देशित किया जा चुका है और नेपाल के बैतड़ी और दार्चुला के जिला प्रमुखों को भी सूचित किया गया है. बॉर्डर पर एसएसबी और हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें लगाई गई हैं.

असल में उत्तराखंड के नेपाल से लगे बॉर्डर इलाकों में दोनों मुल्क एक-दूसरे पर पूरी तरह निर्भर हैं. व्यापार के साथ ही दोनों मुल्कों के बीच सामाजिक और सांस्कृतिक रिश्ते भी हैं. ऐसे में सदियों से दोनों मुल्कों के बीच रोटी और बेटी के रिश्ते कामय हैं. लेकिन कोरोना की बढ़ते मामलों ने प्रशासन को फिर से चिंता में डाल दिया है. प्रशासन अब संवेदनशील इलाकों में हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें भी तैनात कर रहा है. साथ ही सैंपलिंग के दायरे भी बढ़ा रहा है.

Tags: Covid-19 New Variant, Nepal Border, Pithoragarh district

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर