Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Chunav : मंच पर दिग्गज नेता और सामने भारी भीड़, क्या है कांग्रेस की किसान पॉलिटिक्स?

Uttarakhand Chunav : मंच पर दिग्गज नेता और सामने भारी भीड़, क्या है कांग्रेस की किसान पॉलिटिक्स?

कांग्रेस की ​किसान विजय रैली में उमड़ा जनसैलाब.

कांग्रेस की ​किसान विजय रैली में उमड़ा जनसैलाब.

Politics of Uttarakhand : तीनों कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर पूरे देश का सियासी माहौल साल भर गर्म रहा. किसानों के बढ़ते विरोध को देखकर भले ही BJP सरकार ने तीनों कानूनों को वापस ले लिया हो, लेकिन उत्तराखंड में अब किसानों (Uttarakhand Farmers) को अपने पाले में लाने के लिए सियासत तेज़ हो गई है. किसानों की सियासत किसे सत्ता के शिखर पर पहुंचाती है? यह तो वक्त बताएगा लेकिन इतना ज़रूर है कि किसान विजय समारोह (KIsan Vijay Samaroh) में जुटी भीड़ ने कांग्रेसी नेताओं को गदगद ज़रूर कर दिया. अब देखना शेष है कि यह भीड़ वोट में तब्दील होती है या नहीं.

अधिक पढ़ें ...

पिथौरागढ़. 2022 का चुनावी रण जीतने का इरादा लिये कांग्रेस ने पिथौरागढ़ से किसान विजय समारोह का आगाज कर दिया है. कृषि कानूनों को लेकर किसानों की जीत का मुद्दा कांग्रेस हर कीमत पर चुनावों तक जिंदा रखना चाहती है. मौका भले ही किसान विजय समारोह का हो, लेकिन मंच पर सभी कांग्रेसी दिग्गजों की मौजूदगी बहुत कुछ कह रही थी. इस कार्यक्रम में पूर्व सीएम हरीश ऱावत का कहना है कि मौजूद जनसैलाब ने साफ कर दिया है कि उत्तराखंड से बीजेपी की विदाई का समय आ गया है. नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने भी भाजपा सरकार को जमकर कोसा.

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के रण को जीतने के लिए अब किसानों पर फोकस किया है. तीनों कृषि कानूनों की वापसी के बाद कांग्रेस किसी भी कीमत पर इसका श्रेय बीजेपी को छीनने देने के मूड में नहीं दिख रही है. यही वजह है कि किसान विजय समारोह के आगाज़ में उत्तराखंड कांग्रेस के सभी बड़े नेता मौजूद रहे. नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि पूर्व में मनमोहन सिंह सरकार ने किसानों का कर्ज़ माफ किया था, लेकिन बीजेपी सरकार किसानों को बर्बाद करने के ही मंसूबे रखती है. इस मौके पर किसान विरोधी नीतियों के लिए हरीश रावत समेत कई नेताओं ने मंच से भाजपा को खरी खोटी सुनाई.

क्या ख़त्म हो गई कांग्रेस की गुटबाज़ी?
कांग्रेस की मानें तो उपचुनावों में हार के बाद न चाहते हुए बीजेपी ने कृषि कानूनों को वापस लिया. साथ ही, कांग्रेसी नेता इससे भी किसानों को आगाह कर रहे हैं कि बीजेपी के जीतने पर काले कानूनों की फिर वापसी हो सकती है. यही नहीं, इस मौके को कांग्रेस ने सभी गुटों की एकता के रूप में दिखाने की भरसक कोशिश की है. शायद यही वजह रही कि हरीश रावत से लेकर प्रीतम सिंह, रणजीत रावत, देवेन्द्र यादव और यशपाल आर्या सभी एक साथ नज़र आए.

three farm laws, Uttarakhand congress rally, congress rally, harish rawat bayan, कृषि कानून वापसी, हरीश रावत बयान, कांग्रेस की रैली, 2022 Uttarakhand Assembly Elections, Uttarakhand Assembly Election, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव, उत्तराखंड चुनाव 2022, UK Polls, UK Polls 2022, UK Assembly Elections, UK Vidhan sabha chunav, Vidhan sabha Chunav 2022, UK Assembly Election News, UK Assembly Election Updates, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, उत्तराखंड ताजा समाचार,​ pithoragarh news, पिथौरागढ़ समाचार

किसान विजय समारोह में उत्तराखंड कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता एक मंच पर नज़र आए.

हाल में बीजेपी से कांग्रेस में लौटे पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्या का कहना है कि जिस तरह देश का किसान बीजेपी के खिलाफ है, उसी तरह उत्तराखंड में किसानों का समर्थन कांग्रेस को मिल रहा है. आर्या ने ये भी कहा कि किसानों के साथ ही हर वर्ग के हितों पर चोट हो रही है, जिसका जवाब विधानसभा चुनावों में बीजेपी को जनता देगी. इस कार्यक्रम में लोगों की भारी भीड़ को लेकर भी सियासी हलकों में चर्चा हो रही है.

Tags: Uttarakhand Assembly Election, Uttarakhand Congress, Uttarakhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर