होम /न्यूज /उत्तराखंड /

सैलानियों की सुरक्षा के लिए पर्यटक स्‍थलों पर तैनात होगी पुलिस

सैलानियों की सुरक्षा के लिए पर्यटक स्‍थलों पर तैनात होगी पुलिस

उत्‍तराखंड प्राकृतिक संपदा का धनी प्रदेश है. हरे भरे जंगल और बुग्याल इसकी खुब सूरती में चार चांद लगाने का काम करते हैं. यही वजह है कि देश-विदेश से सैलानी यहां के नैसर्गिक सौंदर्य को देखने के लिए खींचे चले आते हैं.

उत्‍तराखंड प्राकृतिक संपदा का धनी प्रदेश है. हरे भरे जंगल और बुग्याल इसकी खुब सूरती में चार चांद लगाने का काम करते हैं. यही वजह है कि देश-विदेश से सैलानी यहां के नैसर्गिक सौंदर्य को देखने के लिए खींचे चले आते हैं.

उत्‍तराखंड प्राकृतिक संपदा का धनी प्रदेश है. हरे भरे जंगल और बुग्याल इसकी खुब सूरती में चार चांद लगाने का काम करते हैं. यही वजह है कि देश-विदेश से सैलानी यहां के नैसर्गिक सौंदर्य को देखने के लिए खींचे चले आते हैं.

    उत्‍तराखंड प्राकृतिक संपदा का धनी प्रदेश है. हरे भरे जंगल और बुग्याल इसकी खुब सूरती में चार चांद लगाने का काम करते हैं. यही वजह है कि देश-विदेश से सैलानी यहां के नैसर्गिक सौंदर्य को देखने के लिए खींचे चले आते हैं.

    जून के अंतिम सप्ताह में प्रदेश के सभी पर्यटक स्थलों पर सैलानियों का जनसैलाब उमडता है, जिसको देखते हुए पुलिस मुख्यालय ने एक सर्कुलर जारी किया है. एडीजी प्रशासन का कहना है कि जून में बारिश भी होती है और सैलानियों की संख्या भी काफी होती है. ऐसे में पुलिस अधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है कि सैलानियों को डेंजर जोन के आने ना जाने दिया जाए.

    प्रशासन का कहना है कि कई स्थानों पर अचानक बारिश के चलते पानी भर जाता है, जिसमें सैलानिक फंस जाते हैं और साथ ही जंगलों में भी बिना चेतावनी के सैलानी घूमने चले जाते हैं. ऐसे में उन्होंने सभी पर्यटक स्थलों पर विशेष सतर्कता बतरने के आदेश दिए हैं.

    हाल ही में राजधानी के गुच्चूपानी पर्यटक स्थल में अचानक पानी भर जाने से दर्जनों सैलानी फंस गए थे, जिन्हें कई घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद निकाला जा सका. एडीजी का कहना है कि ऐसे में सैलानियों की सुरक्षा को देखते हुए पुलिस जवानों को पर्यटक स्थलों पर तैनात किया जा रहा है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर