होम /न्यूज /उत्तराखंड /राजधानी में प्रीपेड ऑटो सेवा बंद, यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे चालक

राजधानी में प्रीपेड ऑटो सेवा बंद, यात्रियों से मनमाना किराया वसूल रहे चालक

राजधानी देहरादून में पुलिस ने प्रीपेड ऑटो सेवा को शुरू किया था, जिससे रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी से आने वाले यात्रियों से ऑटो चालक मनमाना किराया न वूसल सकें.

राजधानी देहरादून में पुलिस ने प्रीपेड ऑटो सेवा को शुरू किया था, जिससे रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी से आने वाले यात्रियों से ऑटो चालक मनमाना किराया न वूसल सकें.

राजधानी देहरादून में पुलिस ने प्रीपेड ऑटो सेवा को शुरू किया था, जिससे रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी से आने वाले यात्रियों से ...अधिक पढ़ें

    राजधानी देहरादून में पुलिस ने प्रीपेड ऑटो सेवा को शुरू किया था, जिससे रेलवे स्टेशन और आईएसबीटी से आने वाले यात्रियों से ऑटो चालक मनमाना किराया न वूसल सकें.

    इसके लिए पुलिस ने बकायदा दोनों स्थानों पर एक पुलिस बूथ बनाया था, इसके तहत यात्रियों को जिस स्थान पर जाना होता था तो वह पुलिस जवानों से वहां की जानकारी हासिल करता था. इसके बाद पुलिस उस यात्री को किराए की रसीद देती थी, जिसमें ऑटो का नंबर और स्थान का नाम लिखा जाता है.

    अगर कोई यात्री शहर में पहली बार आया है तो उसके साथ ऑटो चालक किसी तरह से किराए की मनमानी और अभद्रता नहीं कर सकते थे क्योंकि यह सब कुछ पुलिस जवानों की देख रेख में होता था, लेकिन इस सेवा ने एक साल में ही दम तोड़ दिया.

    जिला पुलिस अधिकारियों की हीलाहवाली से सेवा बंद हो गई और एक बार राजधानी फिर ऑटो यूनियन के मनमानेपन का शिकर हो रही है. यानी प्रीपेड की सेवा एक तरह से मैनुअल जीपीएस था, जिससे यात्री के बारे में और कहां यात्री जाएंगे उस स्थान के बारे में पुलिस के पास जानकारी पहुंच जाती थी.

    अब इस सेवा की कोई सुध नहीं ले रहा है. डीजीपी का कहना है कि यह वाकई काफी प्रभावी योजना थी, लेकिन यह योजना क्यों बंद है इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं और जल्द ही फिर से प्रीपेड ऑटो सेवा को शुरू किया जाएगा.

     

    Tags: देहरादून

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें