अपना शहर चुनें

States

जमीन अधिग्रहण कर अयोध्या में बने भगवान राम का मंदिर: योगगुरु रामदेव

बाबा रामदेव (फाइल)
बाबा रामदेव (फाइल)

पतंजलि गुरुकुल में आयोजित समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में बाबा रामदेव ने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण के दो ही विकल्प हैं. या तो संसद कानून बनाए या लोग फिर खुद मंदिर निर्माण करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2018, 12:19 PM IST
  • Share this:
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर रविवार को विश्व हिंदू परिषद (VHP) धर्मसभा का आयोजन कर रहा है. शिवसेना भी इसपर एक कार्यक्रम कर रही है. इस बीच योगगुरु स्वामी रामदेव ने बड़ा बयान दिया है. उनका कहना है कि जमीन अधिग्रहण कर राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए.

शनिवार को पतंजलि गुरुकुल में आयोजित समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में बाबा रामदेव ने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण के दो ही विकल्प हैं. या तो संसद कानून बनाए या लोग फिर खुद मंदिर निर्माण करें. अगर लोग खुद मंदिर निर्माण करेंगे तो कहा जाएगा कि कानून हाथ में लिया जा रहा है. इससे देश में सांप्रदायिक सद्भावना बिगड़ने की भी आशंका बनती है. ऐसे में श्रेष्ठ विकल्प कानून ही है.

अयोध्या में बोले उद्धव ठाकरे- चुनाव के समय सब करते हैं राम-राम, फिर करने लगते हैं आराम



बाबा रामदेव ने कहा, 'सरकार जैसे सड़क, कॉलेज, एयरपोर्ट को लेकर भूमि अधिग्रहण करती है, उसी तरह से श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर भी जमीन अधिग्रहण कर उसे श्रीराम मंदिर न्यास को सौंप दिया जाना चाहिए. ट्रस्ट में हिंदू और मुस्लिम दोनों का प्रतिनिधित्व होना चाहिए.
रामदेव ने ये भी कहा कि लोग बीजेपी या नरेंद्र मोदी का विरोध कर सकते हैं, लेकिन राम का राष्ट्र में कोई विरोध नहीं है. क्योंकि, श्रीराम तो हम सभी के पूर्वज हैं. यह जमीन नहीं जमीर से जुड़ा मामला है.

PHOTOS: देखिए जब रामलला के दर्शन करने परिवार के साथ पहुंचे उद्धव ठाकरे

योगगुरु रामदेव ने कहा कि कोर्ट के फैसले की देरी से लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है. हम चाहते हैं कि सद्भावना बनी रहे. इसके लिए कानून ही एकमात्र श्रेष्ठ कदम है. राष्ट्र और राम भक्त नरेंद्र मोदी को मंदिर निर्माण को लेकर कानून लाने में देरी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि लोकतंत्र में संसद से बड़ा कोई मंदिर नहीं है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज