Home /News /uttarakhand /

15 हजार की आबादी को निगम में शामिल होने का इंतजार, बोले- काम नहीं तो वोट भी नहीं

15 हजार की आबादी को निगम में शामिल होने का इंतजार, बोले- काम नहीं तो वोट भी नहीं

सड़कों

सड़कों में जगह-जगह कीचड़ भरा हुआ है.

कृष्णा नगर कॉलोनी अभी तक न किसी ग्राम पंचायत का हिस्सा है और न ही नगर पंचायत का.

    ऋषिकेश में आईडीपीएल (IDPL) की भूमि पर करीब 50 वर्षों से कृष्णा नगर कॉलोनी बसी हुई है, लेकिन आज भी इस कॉलोनी के लोग अपनी मूलभूत जरूरतों के लिए मोहताज हैं. शायद यही वजह है कि अब कृष्णा नगर कॉलोनी के लोगों ने ‘काम नहीं तो वोट नहीं’ का नारा देते हुए आगामी विधानसभा चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है. कॉलोनी के लोगों के हकों के लिए आवाज बुलंद कर रही जनकल्याण संयुक्त संघर्ष समिति के अध्यक्ष डॉक्टर बीएन तिवारी ने बताया कि नगर निगम में प्रस्ताव पास होने और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की घोषणा के बावजूद कृष्णा नगर क्षेत्र निगम में शामिल नहीं हो पाया है. इसके लिए वे लगातार संघर्ष कर रहे हैं.

    डॉक्टर तिवारी ने कहा कि कृष्णा नगर कॉलोनी अभी तक न किसी ग्राम पंचायत का हिस्सा है और न ही नगर पंचायत का, जिस कारण यहां सभी विकास कार्य ठप पड़े हुए हैं. इसके साथ ही लोगों को जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, स्थाई प्रमाण पत्र जैसे कागजात बनाने के लिए भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है.

    क्षेत्र में करीब 3000 परिवार और लगभग 15 हजार की आबादी रहती है, लेकिन यहां न तो चलने लायक सड़क है और न पानी की निकासी के लिए नालियां. जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है, जिससे लगातार बीमारी का खतरा बना रहता है, लेकिन इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है.

    लोगों ने अपनी समस्याओं के लिए स्थानीय विधायक प्रेमचंद्र अग्रवाल को जिम्मेदार ठहराया. उनका कहना है कि विधायक द्वारा उन लोगों के लिए कभी भी कुछ नहीं किया गया. स्थानीय लोगों ने इस बार विधानसभा चुनाव में विधायक का विरोध करते हुए ‘काम नहीं तो वोट नहीं’ की भी घोषणा की है.

    वहीं दूसरी ओर अब कृष्णा नगर कॉलोनी के अस्तित्व पर भी संकट मंडराने लगा है. दरअसल आईडीपीएल ने वन विभाग से 60 साल के लिए करीब 833 एकड़ भूमि लीज पर ली थी. अब नवंबर 2021 को आईडीपीएल की लीज समाप्त होने वाली है. इसके बाद यह भूमि वापस वन विभाग के पास आ जाएगी. हालांकि इस जमीन को पर्यटन विभाग को सौंपने के लिए शासन में प्रस्ताव चल रहा है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर