Home /News /uttarakhand /

डीएम ने एडीएम प्रशासन से मांगी रूड़की विस्‍फोट की रिपोर्ट

डीएम ने एडीएम प्रशासन से मांगी रूड़की विस्‍फोट की रिपोर्ट

रूड़की में हुए विस्फोट के बाद जिला और पुलिस प्रशासन हरकत में आया है। डीएम और एसएसपी ने मंगलवार को संयुक्‍त रूप से जनपद के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें जनपद की कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई।

रूड़की में हुए विस्फोट के बाद जिला और पुलिस प्रशासन हरकत में आया है। डीएम और एसएसपी ने मंगलवार को संयुक्‍त रूप से जनपद के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें जनपद की कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई।

रूड़की में हुए विस्फोट के बाद जिला और पुलिस प्रशासन हरकत में आया है। डीएम और एसएसपी ने मंगलवार को संयुक्‍त रूप से जनपद के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें जनपद की कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई।

    रूड़की में हुए विस्फोट के बाद जिला और पुलिस प्रशासन हरकत में आया है। डीएम और एसएसपी ने मंगलवार को संयुक्‍त रूप से जनपद के सभी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें जनपद की कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई।

    इसके आलावा बैठक में डीएम हरिद्वार ने एडीएम प्रशासन से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी। इसमें पूछा गया है कि किन परिस्‍थितियों में छह दिसंबर को रूड़की में विहिप के कार्यक्रम की अनुमति दी गई थी। डीएम के मुताबिक मामले की जांच तो जारी है, लेकिन भविष्य में इस तरह की घटना न हो इसके लिए भी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

    मालूम हो कि रूडकी के डीएवी स्कूल के मैदान में स्कूल से घर जाते समय चौथी कक्षा के एक छात्र के बैग में रखा सेना का डिफ्यूज्ड बम विस्फोट हो गया। इस विस्फोट में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई।

    छात्र के साथ जा रहे दो अन्य छात्रों की हालत भी गंभीर बनी हुई है। विस्फोट मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी भाजपा विधायक संगीत सोम की सभा से 300 मीटर की दूरी पर हुआ है। कॉलेज के पास ही सेना का कैंप है और पुलिस सूत्रों का कहना है कि धमाका एक हादसा हो सकता है।

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर