लाइव टीवी
Elec-widget

रुद्रप्रयाग में आदमखोर गुलदार की तलाश में भटक रहे हैं उत्तराखंड के दो सबसे बड़े शिकारी

Shelendra Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: November 11, 2019, 12:18 PM IST
रुद्रप्रयाग में आदमखोर गुलदार की तलाश में भटक रहे हैं उत्तराखंड के दो सबसे बड़े शिकारी
53 आदमखोर गुलदार-बाघ का शिकार कर चुके लखपत रावत और 35 आदमखोरों को मार चुके जॉय हुकिल रुद्रप्रयाग के आदमखोर गुलदार की तलाश में घूम रहे हैं.

मशहूर शिकारी लखपत रावत (Hunter Lakhpat Rawat) शाम 6 से 8 बजे तक क्षेत्र में बच्चों को बिल्कुल भी बाहर न निकलने देने, महिलाओं को जंगल में अकेले न जाने, घरों से 20 मीटर की दूरी तक झाड़ियों को साफ़ करने की सलाह दी है.

  • Share this:
रुद्रप्रयाग. ज़िले के भरदार क्षेत्र में दो लोगों को मारने वाले गुलदार (Leopard) को आदमखोर (Man Eater) तो घोषित कर दिया गया है लेकिन यह अभी भी इलाक़े में ख़तरा बना हुआ है. तीन दिन से प्रदेश के सबसे बड़े दो शिकारी इस गुलदार की तलाश में दिन-रात जंगल नाप रहे हैं लेकिन इस गुलदार का कुछ पता नहीं चल पाया है. 53 आदमखोर गुलदार-बाघ का शिकार कर चुके लखपत रावत (Hunter Lakhpat Rawat) और 35 आदमखोरों को मार चुके जॉय हुकिल (Joy Huckil) इस गुलदार की तलाश में घूम रहे हैं.

बड़ा और चालाक है आदमखोर 

बता दें कि भरदार क्षेत्र में शुक्रवार को आदमखोर गुलदार ने घास लेने गई एक महिला को मार डाला था.  बांसी गांव की 32 वर्षीय सुधा देवी को तीन दिन में गुलदार का दूसरा शिकार बनी थीं. उनसे दो दिन पहले ही आदमखोर गुलदार ने सतनी गांव के 52 वर्षीय आदमी पर हमला कर उन्हें मार डाला था. दो तीन दिन में दूसरी मौत के बाद वन विभाग ने गुलदार को आदमखोर घोषित कर दिया था.

वन विभाग के गुलदार को आदमखोर घोषित करने के बाद मशहूर शिकारी लखपत रावत और जॉय हुकिल तीन दिन से गुलदार की तलाश कर रहे हैं. शिकारियों के अनुसार आदमखोर गुलदार काफी बड़ा होने के साथ ही चालाक भी है.

tracking man eater leopard, शिकारी लखपत सिंह रावत ने कहा कि घने जंगल में आदमखोर गुलदार की पहचान कर उसे मारना आसान नहीं है.
शिकारी लखपत सिंह रावत ने कहा कि घने जंगल में आदमखोर गुलदार की पहचान कर उसे मारना आसान नहीं है.


ये सावधानियां बरतें 

अब तक 53 आदमखोरों को मार चुके शिकारी लखपत सिंह रावत ने कहा कि घने जंगल में आदमखोर गुलदार की पहचान कर उसे मारना आसान नहीं है. यह ऑपरेशन बेहद चुनौतीपूर्ण है. जब तक गुलदार ट्रेस नहीं हो जाता तक तक उन्होंने ग्रामीणों को सावधान रहने और आदमखोर गुलदार से बचाव के उपाय करने की सलाह दी है.
Loading...

लखपत रावत ने शाम 6 से 8 बजे तक क्षेत्र में बच्चों को बिल्कुल भी बाहर न निकलने देने, महिलाओं  जंगल में अकेले न जाने, कुत्तों को जोड़ी में रखने, घरों से 20 मीटर की दूरी तक झाड़ियों को साफ़ करने की सलाह दी है.

ये भी देखें: 

पिथौरागढ़: आदमखोर तेंदुए को शिकारी जॉय हुकिल ने मार गिराया

पौड़ी में दो बच्चियों को मारने वाला गुलदार ढेर... शिकारियों की गोली से रविवार को हुआ था घायल 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रुद्रप्रयाग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 12:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com