उत्तराखंड : रुद्रप्रयाग जिले में दो जगहों पर बादल फटे, कई घरों और दुकानों में मलबा भरा

बादल फटने से आई तबाही का एक नजारा.

बादल फटने से आई तबाही का एक नजारा.

सीएम तीरथ सिंह ने दोनों जिलाधिकारियों से कहा है कि वे स्थिति पर लगातार नजर रखें. लोक निर्माण विभाग, एनएच व बीआरओ को आदेश दिए गए हैं कि जो मार्ग बंद हो गए हों, उन्हें तत्काल खुलवाया जाए.

  • Share this:
रुद्रप्रयाग. रुद्रप्रयाग जिले से बड़ी खबर आ रही है. यहां भारी बारिश से नरकोटा समेत कई स्थानों पर बादल फटने की घटनाएं हुई हैं. बद्रीनाथ एनएच पर नरकोटा में बादल फटने से जहां राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित हो गया, वहीं मार्ग में एक वाहन 4 सवारियों समेत मलबे में फंस गया. हालांकि इन चारों लोगों को स्थानीय लोगों ने मलबे से सुरक्षित निकाल लिया है. खबर है कि कई घरों और दुकानों में भी मलबा भर गया है. ग्रामीणों की खेती व बिजली, पानी की व्यवस्था को भारी नुकसान हुआ है. बताया जा रहा है कि एक बाइक इस मलबे में बह गई. दूसरी ओर फतेपुर, गैरसारी और कोटली से भी भारी बारिश व अतिवृष्टि से भारी नुकसान की खबरें आ रही हैं, लेकिन राहत वाली बात यह है कि फिलहाल जनहानि की कोई सूचना नहीं है.

मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर बताया कि रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जिलों में बादल फट जाने की खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित जिलाधिकारियों से फोन पर जानकारी ली गई है. उन्हें प्रभावितों को तुरंत राहत और सहायता राशि अविलंब देने का निर्देश दिया गया है. सीएम तीरथ सिंह ने अपने दूसरे ट्वीट में जानकारी दी कि दोनों जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वे स्थिति पर लगातार नजर रखें. लोक निर्माण विभाग, एनएच व बीआरओ को आदेश दिए गए हैं कि जो मार्ग बंद हो गए हों, उन्हें तत्काल खुलवाया जाए ताकि जनता को परेशानी न हो.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के पहले ट्वीट का स्क्रीनशॉट.
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के पहले ट्वीट का स्क्रीनशॉट.

उत्तरकाशी में कई मकान क्षतिग्रस्त

इस बीच समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर कुछ तस्वीरें साझा करते हुए बताया कि उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के कुमारदा गांव में बादल फटने से कई मकान और सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं हैं. स्थानीय प्रशासन के अधिकारी मौके पर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज