रुद्रप्रयाग में चुनाव हारने पर विजेता को जान से मारने की कोशिश, हारने वाले के समर्थकों ने गाड़ी में लगाई आग, कूदकर बचे ड्राइवर और प्रधान
Rudraprayag News in Hindi

रुद्रप्रयाग में चुनाव हारने पर विजेता को जान से मारने की कोशिश, हारने वाले के समर्थकों ने गाड़ी में लगाई आग, कूदकर बचे ड्राइवर और प्रधान
गुप्तकाशी के शल्या गांव में चुनाव हारने वाले प्रत्याशी के समर्थकों ने जीतने वाले प्रत्याशी से मारपीट की नहीं की उसकी गाड़ी में आग भी लगा दी.

वीरेंद्र सिंह रावत (Virendra Singh Rawat) के समर्थक हार पचा नहीं पाए और उन्होंने मंगलवार रात को विजयी प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह रावत (Laxman Singh Rawat) के साथ मारपीट की.

  • Share this:
रुद्रप्रयाग. उत्तराखंड में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Uttarakhand Panchayat Election) तो शांतिपूर्वक निपट गए लेकिन परिणाम आने के बाद एक हिंसा की घटना हुई है. बता दें कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मतदान (Voting) तीन चरणों में हुए थे और किसी भी चरण में हिंसा की एक भी वारदात सामने नहीं आई थी. लेकिन चुनाव परिणाम के बाद अब रंजिश के एक मामला रुद्रप्रयाग (Rudraprayag) से सामने आया है. गुप्तकाशी (Guptkashi) के शल्या गांव में चुनाव हारने वाले प्रत्याशी के समर्थकों ने जीतने वाले प्रत्याशी से मारपीट की नहीं की उसकी गाड़ी में आग भी लगा दी.

मारपीट, गाड़ी में आग लगाई 

बीते दिन त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का रिज़ल्ट आया तो गुप्तकाशी के शल्या गांव में लक्ष्मण सिंह रावत प्रधान पद पर विजयी घोषित हुए. उन्होंने इस चुनाव में वीरेंद्र सिंह रावत को हराया. आरोप है कि वीरेंद्र सिंह रावत के समर्थक हार पचा नहीं पाए और उन्होंने मंगलवार रात को विजयी प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह रावत के साथ मारपीट की. ग्रामीणों ने बीच-बचाव के बाद मामला शांत करवाया.



लेकिन वीरेंद्र सिंह के समर्थकों का गुस्सा खत्म नहीं हुआ और वीरेंद्र सिंह रावत के बेटे चैत सिंह के साथ लोक सिंह और अशोक ने नव निर्वाचित प्रधान लक्ष्मण सिंह की मैक्स गाड़ी को तब आग लगा दी जब लक्ष्मण सिंह उसमें बैठकर जा रहे थे.
rudraprayag car burnt of winner pradan, गुप्तकाशी पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.
गुप्तकाशी पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.


कूदकर बचाई जान

गनीमत रही कि लक्ष्मण सिंह और ड्राइवर चरण सिंह समय से वाहन से बाहर निकल गए और उनकी जान बच गई. इस हमले की शिकायत गुप्तकाशी थाने में की गई जिसके बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

एसपी रुद्रप्रयाग अजय सिंह ने बताया कि तीनों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर ली गई है और कानूनन उन पर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी देखें: 

रुद्रप्रयाग में पीठासीन अधिकारी की ग़लती जनादेश पर भारी... हस्ताक्षर न होने से 60 वोट रद्द

पंचायत चुनावः अब ख़रीद-फ़रोख्त की आशंका, कांग्रेस-BJP ने कहा समान मानसिकता वालों का स्वागत 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading