Home /News /uttarakhand /

251 जल कलशों से यक्ष राज का किया जलाभिषेक

251 जल कलशों से यक्ष राज का किया जलाभिषेक

भगवान यक्ष की तपस्थली जाखधार में अयुत यज्ञ के 8वें दिन 251 जल कलशों से यक्ष राज का जलाभिषेक कर क्षेत्र की सुख सम्पन्नता की कामना की गई.

भगवान यक्ष की तपस्थली जाखधार में अयुत यज्ञ के 8वें दिन 251 जल कलशों से यक्ष राज का जलाभिषेक कर क्षेत्र की सुख सम्पन्नता की कामना की गई.

भगवान यक्ष की तपस्थली जाखधार में अयुत यज्ञ के 8वें दिन 251 जल कलशों से यक्ष राज का जलाभिषेक कर क्षेत्र की सुख सम्पन्नता की कामना की गई.

भगवान यक्ष की तपस्थली जाखधार में अयुत यज्ञ के 8वें दिन 251 जल कलशों से यक्ष राज का जलाभिषेक कर क्षेत्र की सुख सम्पन्नता की कामना की गई.

इस दौरान हजारों भक्तों ने कलश यात्रा में प्रतिभाग कर पुण्य अर्जित किया. 251 भक्तों ने मंदिर से तीन किमी दूर जाख का प्राकृतिक स्त्रोत सेमला खाण से विशाल जल कलश यात्रा निकाली गई. जिसकी अगुवाई खुद साक्षात जाख के नर पश्वा की ओर से की गई.

सेमला खाण में वर्धिनी कलशों की परंपरागत पूजा अर्चना कर गणेश और भगवान यक्ष के बीज मंत्रों का जाप किया गया. फिर जल कलश यात्रा विभिन्न पर्वतों, खेत खलियानों और प्राकृतिक जल स्रोतों से निकलते हुये जाख मंदिर में पहुंची.

पवित्र जल का भगवान यक्ष का परंपरागत स्नान करवाया गया. इस दौरान ब्रह्म मंडली ने तैंतीस कोटि देवी देवताओं का आह्वान कर यज्ञ आहुतियां दी.

जाख देवता मंदिर समिति और चैदह गांवों के भक्तों की ओर से आयोजित अयुत यज्ञ में प्रतिदिन हजारों की तादात में भक्त आकर पूजा अर्चना कर रहे हैं. 17 फरवरी से आयोजित अयुत यज्ञ विश्व कल्याण और क्षेत्र की खुशहाली की कामना के लिए सम्पन्न किया जा रहा है.

नौ दिवसीय यज्ञ का पूर्णाहुति के साथ समापन किया जायेगा. ज्ञांत हो कि बैसाख महीने की दो प्रविष्ठ को जाख मंदिर में ऐतिहासिक जाख मेला आयोजित किया जाता है. जिसमें जाख का नर पश्वा धधकते अग्नि कुंड़ में नृत्य कर भक्तों की बलायें लेता है. साथ ही सूखा पड़ने पर भगवान जाख बरसात करवा कर भक्तों की मनौतियां पूर्ण करते हैं.

Tags: Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर