केदारनाथ में तीर्थयात्री का पुलिस पर मंदिर में मारपीट का आरोप, एसपी ने बताया साज़िश
Rudraprayag News in Hindi

केदारनाथ में तीर्थयात्री का पुलिस पर मंदिर में मारपीट का आरोप, एसपी ने बताया साज़िश
केदारनाथ मंदिर की फ़ाइल फ़ोटो

पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रथम दृष्टया लगाए गए आरोपों की पुष्टि नहीं हुई है फिर भी केदारनाथ में नियुक्त क्षेत्राधिकारी को जांच दे दी गई है.

  • Share this:
केदारनाथ पुलिस ग़लत कारणों से सुर्खियों में है. सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एक वीडियो में आरोप लगाया गया है कि मंदिर के अंदर पुलिस ने तीर्थयात्रियों से मारपीट और अभद्रता की. वीडियो में तीर्थ पुरोहित भी आरोप लगाने वाले व्यक्ति का समर्थन करते नज़र आ रहे हैं. पुलिस अधीक्षक ने आरोप का खंडन करते हुए इसे पुलिस की छवि खराब करने का षड्यंत्र बताया है और जल्द ही सीसीटीवी फ़ुटेज की मदद से मामले का खुलासा करने का दावा किया है. माना जा रहा है कि पुलिस और पंडा समाज में तनातनी की वजह से यह मामला उछला है.

आरोप

गुरुवार को सोशल मीडिया में एक वायरल वीडियो में एक युवक ने आरोप लगाया कि वह मंदिर में दर्शन करते हुए जल चढ़ा रहे थे तभी एक पुलिसकर्मी ने एक बच्ची का सिर पकड़कर उसे बाहर की तरफ धकेला. एक युवक को घसीटकर बाहर लाया गया. युवक के अनुसार एक अन्य युवती और उसकी मां व मौसी के साथ भी पुलिस ने अभद्र व्यवहार किया है.



करना चाहते हैं चार धाम की यात्रा, तो अब चुने अपनी जेब के मुताबिक सस्ते टूर पैकेज
रुद्रप्रयाग के पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने एक बयान जारी कर स्पष्टीकरण दिया कि केदारनाथ धाम में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में दिन -प्रतिदिन वृद्धि हो रही है और यात्रियों की लंबी लाइन लग रही है. कुछ दिनों पहले व्यवस्था की गई है कि मंदिर के गर्भ-गृह में बिना चक्कर लगाए ही श्रद्धालु बाहर आएंगे और अत्यधिक समयावधि तक मंदिर के अंदर खड़े नहीं रहेंगे. इसके लिए मंदिर के गर्भ गृह के अंदर महिला उपनिरीक्षक और महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती भी की गई है. कुछ लोगों को यह व्यवस्था उनके निजी स्वार्थ पूरे न होने के कारण सही नहीं लग रही है.

स्पष्टीकरण 

वीडियो में युवक के आरोप का जवाब देते हुए बयान में कहा गया कि एक परिवार ने अपने को मध्य प्रदेश के किसी वीआईपी का हवाला देते हुए मंदिर के अंदर जाने की ज़िद की और पूजा में अत्याधिक समय लिया गया. उन्होंने झूठ भी बोला कि उनके साथ अन्य बुजुर्ग लोग भी हैं. जिस बालिका (14 साल) को उठाकर फेंकने का आरोप लगाया गया है, उसका पैर भी किसी अन्य श्रद्धालु की वजह से दब गया था.

रेल नेटवर्क से जुड़ेंगे चार धाम, ये है मोदी सरकार का प्लान

पुलिस अधीक्षक के अनुसार यह परिवार ने वहां पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की करते हुए अंदर गया था और ड्यूटी पर तैनात उपनिरीक्षक उन्हें बाहर लाए थे और बताया था कि नियमों के हिसाब से ही बाबा केदार के दर्शन हो रहे हैं. परिवार के सदस्यों द्वारा मन्दिर दर्शन के अनुरोध पर उक्त परिवार को दर्शन कराने में पुलिस ने मदद भी की थी.

उत्तराखंड के चारों धाम में नहीं कटेगी बिजली, होगी 24 घंटे सप्लाई

पुलिस अधीक्षक के अनुसार प्रथम दृष्टया लगाए गए आरोपों की पुष्टि नहीं हुई है फिर भी केदारनाथ में नियुक्त क्षेत्राधिकारी को जांच दे दी गई है. सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से एवं अन्य लोगों से पूछताछ कर जांच की जाएगी.

VIDEO : केदारनाथ की राह में पड़े हैं मृत घोड़े और खच्चर, बदबू से हलकान तीर्थयात्री

यात्रियों की जान से खेल रहा है युकाडा? टेंडर की शर्तें पूरी न करने वाली हैलि कंपनियों को उड़ने की इजाज़त!

पीएम ने केदारनाथ की जिस गुफा में किया था ध्यान, अब पर्यटकों के लिए खोली जा रही है

जिस गुफा में पीएम ने साधना की वहां थी ये सारी सुविधाएं

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज