Home /News /uttarakhand /

kedarnath portals open thousands of devotees in queue first puja on behalf of pm narendra modi

Kedarnath Opening: बाबा केदारनाथ के कपाट खुले, ठंड में भक्तों का सैलाब, PM मोदी के नाम से पहली पूजा

बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने के समय श्रद्धालुओं की भीड़ फोटो और वीडियो रिकॉर्डिंग करती दिखी.

बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने के समय श्रद्धालुओं की भीड़ फोटो और वीडियो रिकॉर्डिंग करती दिखी.

Char Dham Yatra में गंगोत्री और यमुनोत्री के बाद केदारनाथ धाम के पट खोल दिए गए. धाम में पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से संपन्न करवाई गई. इस मौके पर श्रद्धालुओं का सैलाब जिस तरह उमड़ा, उससे इस बार चार धाम यात्रा में बंपर भीड़ का अंदाज़ा भी मिला.

अधिक पढ़ें ...

रुद्रप्रयाग. हर-हर महादेव के नारों से पूरी केदारनगरी उस समय गूंज उठी, जब 6 मई की सुबह 6 बजकर 25 मिनट पर बाबा केदार धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले गए. इस मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मौजूद थे और उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर भी केदार धाम खुलने की सूचना साझा की. धाम खुलने के बाद से ही परंपरा के अनुसार धाम में पूजा अर्चना का सिलसिला शुरू हुआ. इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु केदार धाम पहुंचे.

केदारनाथ धाम में हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु देश और विदेश से भी पहुंच चुके हैं. बाबा के कपाट खुलने से पहले ही ठंड के बावजूद गुरुवार देर रात से ही केदार मन्दिर में भीड़ देखी गई. सुबह सरस्वती नदी तक भक्तो की भीड़ लगी देखी गई. बाबा केदार के दर्शन के लिए भक्तों की भारी उमड़ी और सेल्फी व फोटो लेने की होड़ भी लोगों में देखी गई. कई लोग अपने परिजनों को फोन के ज़रिये बाबा के दर्शन करवाते देखे गए. केदारनाथ धाम खुलने से जुड़े कुछ खास फैक्ट्स देखिए :

* केदार बाबा के मंदिर को 10 क्विंटल फूलों से सजाया गया है.
* हाल में बर्फबारी के कारण यहां मौसम ठंडा है और पहाड़ियों पर बर्फ की चादर दिख रही है.
* पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट कर लिखा कि उन्हें बाबा केदार के कपाट खुलने के मौके पर मौजूद रहने का सौभाग्य मिला.
* विधि विधान के साथ सुबह 6.25 बजे मंदिर के कपाट खुले.

डोली पहुंचने के बाद से ही धाम हुआ भक्तिमय
इससे पहले गुरुवार को बाबा की चलविग्रह उत्सव डोली बाबा केदारनाथ धाम पहुंची. हजारों श्रद्धालुओं और बमबम भोलेनाथ के जयकारों के साथ डोली धाम में पहुंची. शुक्रवार सुबह बाबा के कपाट खुलने के बाद इस डोली को मन्दिर के अंदर विराजमान किए जाने की परंपरा शुरू हुई. रात भर डोली मन्दिर के भंडार में विश्राम के लिए रही और वहीं डोली के साथ हज़ारों की तादाद में श्रद्धालुओं में उत्साह देखने को मिला.

गौरतलब है कि केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं को पहली बार आदि गुरु शंकराचार्य की समाधि स्थल में शंकराचार्य की मूर्ति के भी दर्शन होंगे. साल 2013 की आपदा में स्थल तबाह हुआ था, जिसका पुनर्निर्माण किया गया है. इसी समाधि स्थल पर पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे थे.

Tags: Char Dham Yatra, Kedarnath Dham, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर