उत्‍तराखंड: मुख्‍य पुजारी समेत 16 लोग ही कर सकेंगे बाबा केदारनाथ के दर्शन

(फोटो-एएनआई)
(फोटो-एएनआई)

रुद्रप्रयाग के कलेक्‍टर मंगेश घिल्डियाल (Collector Mangesh Ghildiyal) ने मौजूदा हालात का हवाला देते हुए यह जानकारी दी.

  • Share this:
देहरादून. बाबा केदारनाथ (Kedarnath) का दर्शन करने का सपना संजोए श्रद्धालुओं के लिए निराश करने वाली खबर है. केदारनाथ मंदिर का पट खुलने पर मुख्‍य पुजारी के साथ 15 अन्‍य लोग ही दर्शन कर सकेंगे. मंदिर को फिलहाल आम श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जाएगा. मंदिर का पट 29 अप्रैल को खुलेगा. रुद्रप्रयाग के कलेक्‍टर मंगेश घिल्डियाल (Collector Mangesh Ghildiyal) ने मौजूदा हालात का हवाला देते हुए यह जानकारी दी. बता दें कि हर साल बड़ी तादाद में देश के हर कोने से श्रद्धालु बाबा केदारनाथ का दर्शन करने आते हैं.

जानकारी के मुताबिक, 11वें ज्योतिर्लिंग बाबा केदारनाथ धाम के कपाट 29 अप्रैल को मेष लग्न में प्रात: छह बजकर 10 मिनट पर खोल दिए जाएंगे. बाबा केदार की उत्सव डोली 26 अप्रैल को ऊखीमठ स्थित पंचगद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर से केदारनाथ के लिए रवाना होगी. वहीं, बद्रीनाथ धाम के कपाट केदारनाथ के कपाट खुलने के अगले दिन यानी 30 अप्रैल को खुलेंगे.


सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया था
बता दें कि कल बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने को लेकर पंचगद्दी स्थल ऊखीमठ में बैठक आयोजित हुई थी. इस बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया था कि कपाट पूर्व निर्धारित तिथि को ही खुलेंगे. बैठक में हुए फैसले को शासन और प्रशासन को भेज दिया गया था. इससे पहले सोमवार को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि और मुहूर्त बदल दिया गया था. इसके साथ ही पर्यटन और धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज ने केदारनाथ धाम के कपाट भी 14 मई को खुलने का ऐलान कर दिया था. हालांकि बाद में तीर्थ-पुरोहितों के दबाव के बाद उन्होंने अपना बयान बदल लिया था.



ये भी पढ़ें- 

खुशखबरी! लॉकडाउन में भी सभी कर्मचारियों को मिलेगा पूरा वेतन- UP लेबर कमिश्नर

लखनऊ: क्यारी से कनेर का फूल तोड़ने में महिला की गई जान, गैर इरादतन हत्या का केस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज