केदारनाथ की गुफा में 18 घंटे साधना के बाद बोले मोदी- मैं भगवान से कुछ नहीं मांगता

पीएम ने कहा कि कपाट खुलने से पहले सैकड़ों लोगों को काम करना पड़ता है, आम लोगों की सुविधा का ध्यान रखना पड़ता है. मैं कभी कुछ मांगता नहीं, मांगने की प्रवृत्ति से सहमत नहीं हूं. प्रभु ने हमें मांगने नहीं देने योग्य बनाया है.

News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 4:09 PM IST
News18Hindi
Updated: May 19, 2019, 4:09 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केदारनाथ यात्रा पूरी हो चुकी है, अब पीएम बदरीनाथ धाम पहुंच चुके हैं. यहां पर वह मंदिर में पूजा कर रहे हैं. इसके पहले केदारनाथ की गुफा में करीब 18 घंटे साधना के बाद पीएम मोदी रविवार सुबह बाहर आ गए. गुफा से निकलने के बाद पीएम मोदी ने योग किया. इसके बाद वो केदारनाथ मंदिर पहुंचे और फिर उन्होंने यहां पूजा की.

इस दौरान पीएम ने कहा कि मैं कभी कुछ मांगता नहीं, मांगने की प्रवृत्ति से सहमत नहीं हूं. प्रभु ने हमें मांगने नहीं देने योग्य बनाया है. गुफा से मंदिर तक की दूरी करीब 2 किलोमीटर है. केदारनाथ के बाद आज मोदी बद्रीनाथ जा रहे हैं.



बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी शनिवार की सुबह देहरादून के जौलीग्रांट हवाई अड्डे पर पहुंचे, जहां से उन्होंने केदारनाथ के लिए उड़ान भरी. बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर केदारनाथ पहुंच कर मोदी ने केदारनाथ मंदिर के दर्शन किए. इसके बाद केदारनाथ की गुफा में उन्होंने योग साधना की. आज बद्रीनाथ दर्शन के बाद पीएम मोदी नई दिल्ली लौट आएंगे.



Loading...



केदारनाथ मंदिर में पूजा करने के बाद पीएम मोदी ने मीडिया से बात की. उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री बना तो उत्तराखंड में सरकार बनी. यहां तीन-चार महीने ही काम किया जा सकता है, हर समय बर्फ रहती है. इस धरती से मेरा एक विशेष नाता रहा है, कल से मैं गुफा में रहने एकांत के लिए चला गया था. उस गुफा से 24 घंटे बाबा दर्शन किए जा सकते हैं. वर्तमान में क्या हुआ मैं उससे बाहर था, अपने आप में था.'



मोदी ने कहा, 'विकास का मेरा मिशन, प्रकृति पर्यावरण और पर्यटन. आस्था और श्रद्धा को और अधिक संभालने के लिए क्या कर सकते हैं, आध्यात्मिक चेतना में इजाफा नहीं कर सकते हैं लेकिन रुकावटे डालने से रोक सकते हैं. मैं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से काम का जायजा लेता रहता हूं.'

ये पहला मौका है जब मोदी केदारनाथ में ध्यान किया. देश के बारह ज्योर्तिलिंगों में केदारनाथ धाम 11 वें स्थान पर आता है. इसकी समुद्र तल से ऊंचाई 11,700 फीट है. मंदिर परिसर से करीब दो किलोमीट दूर ध्यान गुफा है. उसकी ऊंचाई करीब 12,250 फीट है.

साधना करते हुए पीएम मोदी


दो साल पहले वर्ष 2017 में कपाट खुलने के दिन पीएम मोदी ने पहले श्रद्धालु के तौर पर केदारनाथ के दर्शन किए थे. उस समय भी पीएम मोदी ने रुद्राभिषेक किया था. केदारनाथ का यह उनका चौथा दौरा है. वर्ष 2013 में केदारनाथ में आई आपदा के बाद मोदी ने ही केदारनाथ गुफा के पुनर्निर्माण के निर्देश दिए थे. पिछले साल ही यह गुफा बनकर तैयार हुई है. इस साल महाराष्ट्र के जय शाह के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुफा में रुकने वाले दूसरे भक्त होंगे.

ये भी पढ़ें: केदारनाथ में दिखा PM मोदी का अनूठा अंदाज़

 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...