केदारनाथ धाम यात्रा में सिर्फ 6 सप्ताह शेष, प्रशासन की तैयारियां अब भी अधूरी

जिला प्रशासन को केदारनाथ धाम के लिए ऐयर एम्बुलेंन्स की स्वीकृति शासन से नहीं मिल पायी है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 4:05 PM IST
केदारनाथ धाम यात्रा में सिर्फ 6 सप्ताह शेष, प्रशासन की तैयारियां अब भी अधूरी
केदारनाथ मंदिर (फाइल फोटो)
ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 4:05 PM IST
उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ की यात्रा शुरू होने में मात्र छह सप्ताह का समय शेष रह गया है. अभी तक जिला प्रशासन को केदारनाथ धाम के लिए ऐयर एम्बुलेंन्स की स्वीकृति शासन से नहीं मिल पायी है. इस साल से केदारनाथ यात्रा में सम्मिलित होने वाले 60 वर्ष की उम्र से अधिक के तीर्थ यात्रियों को ईसीजी टेस्ट करवाना होगा.

बता दें कि केदारनाथ धाम साढ़े ग्यारह हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है. सभी ज्योर्तिलिगों में सबसे दुर्गम यात्रा केदारनाथ धाम की है. उच्च हिमालयी क्षेत्रों में स्थित होने के कारण यहां हर समय ऑक्सीजन की कमी रहती है.

जिसके कारण बुजुर्ग को हार्ट अटैक होने की संभावना काफी बढ़ जाती है. साल 2017 में केदारनाथ धाम यात्रा के दौरान 38 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. यात्रा के दौरान दम तोड़ने वाले 36 श्रद्धालुओं की मौत हृदय गति रुकने के कारण हुई थी.

इसी तरह साल 2012 की बात करें, तो केदारनाथ यात्रा के दौरान 74 लोगों की मौत हुई थी. जिसमें से 69 लोगों की मौत हृदय गति रुकने के कारण हुई हुई थी. समय पर उपचार न मिलने और संसाधनों के अभाव में केदारनाथ यात्रा के दौरान कई तीर्थ यात्रियों की अकाल मौत हो जाती है.

(रुद्रप्रयाग से सुनीत चौधरी की रिपोर्ट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->
काउंटडाउन
काउंटडाउन 2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे
2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे