लाइव टीवी

केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य की मॉनिटरिंग स्वयं कर रहे हैं प्रधानमंत्री

Deepankar Bhatt | News18 Uttarakhand
Updated: May 31, 2019, 8:37 AM IST
केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्य की मॉनिटरिंग स्वयं कर रहे हैं प्रधानमंत्री
(फाइल फोटो)

18 मई को प्रधानमंत्री केदारनाथ आए और उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के साथ केदारनाथ धाम में चल रहे कामों का जायजा लिया.

  • Share this:
केदारनाथ धाम की सूरत संवारने का सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का है. इसकी चर्चा पीएम ने हाल ही में  18-19 मई को केदारनाथ दौरे में भी की. उसी काम को आगे बढ़ाने में अब उत्तराखंड सरकार और शासन जी-जान से जुटे हैं. 18 मई को प्रधानमंत्री केदारनाथ आए और उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के साथ केदारनाथ धाम में चल रहे कामों का जायजा लिया. इस दौरान प्रधानमंत्री ने धाम में चल रहे
हर काम को रफ्तार देने की बात कही. उत्तराखंड शासन अब काम तेज करने जा रहा है. मुख्य सचिव ने बताया कि प्रधानमंत्री की चिंता आदिगुरु शंकराचार्य की समाधि में जमी बर्फ को लेकर है. यहां जमी बर्फ की वजह से श्रद्धालु समाधि के दर्शन नहीं कर पा रहे हैं.

शंकराचार्य की समाधि पर जमी बर्फ को गलाने की तैयारी

इस बारे में मुख्य सचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री की चिंता को दूर किया जा रहा है और शंकराचार्य की समाधि पर जमी बर्फ को गलाने की तैयारी हो रही है. उन्होंने कहा कि इस काम में सोलर सिस्टम का इस्तेमाल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि ये तरीका खुद प्रधानमंत्री ने ही सुझाया था. सिर्फ शंकराचार्य की समाधि ही नहीं बल्कि पूरी केदारपुरी को सजाने और संवारने का काम लगातार चल रहा है ताकि श्रद्धालु आराम से स्मार्ट केदारपुरी के दर्शन कर सकें. शासन-प्रशासन के लिए टेंशन इसलिए ज्यादा है क्योंकिं पूरे काम की मॉनिटरिंग प्रधानमंत्री स्वयं कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें - रेल नेटवर्क से जुड़ेंगे चार धाम, ये है मोदी सरकार का प्लान

ये भी पढ़ें - यहां जानिए 10वीं के टॉपर्स को किस विषय में कितने नंबर मिले

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रुद्रप्रयाग से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 31, 2019, 8:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...