Assembly Banner 2021

उत्तराखंड: मसूरी में सात साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

बच्ची से रेप करने वाला यह आरोपी युवक अब पुलिस की गिरफ्त में है.

बच्ची से रेप करने वाला यह आरोपी युवक अब पुलिस की गिरफ्त में है.

मसूरी (Mussoorie) में मजदूर बस्ती में एक युवक ने सात साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म (Rape) किया, जिसको लोगों ने रंगेहाथ पकड़ लिया तो पहले पिटाई की उसके बाद पुलिस (Police) को सौंप दिया. वहीं बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 3, 2021, 10:17 PM IST
  • Share this:
देहरादून. मसूरी स्थित बाटाघाट में एक सात वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म (Rape) का मामला सामने आया है. पुलिस (Police) ने आरोपित को हिरासत में ले लिया है. वहीं बच्ची की हालत खराब होने के कारण उसे हायर सेंटर देहरादून (Dehradun) में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसका इलाज चल रहा है.

एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि बाटाघाट क्षेत्र में इन दिनों नेशनल हाईवे का काम चल रहा है. यहां कुछ श्रमिक काम कर रहे हैं, जो कि आसपास ही रहते हैं. रात करीब 10 बजे एक श्रमिक पास में ही रहने वाली सात वर्षीय बच्ची को अपने साथ लेकर आ गया और अकेले में ले जाकर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. बच्ची की चिल्लाने की आवाज सुनकर अन्य श्रमिक वहां पर एकत्र हो गए और उन्होंने आरोपित को रंगे हाथों पकड़ लिया.

इसके बाद कुछ ने आरोपी की पिटाई औप इसके बाद आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस और स्वजन बच्ची को इलाज के लिए तुरंत अस्पताल लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने बच्ची का इलाज शुरू किया. बच्ची की हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया.



रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: कल से उत्तराखंड-यूपी के बीच शुरू होंगी चार पैसेंजर ट्रेन
आरोपित बच्ची का रिश्तेदार ही है

एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि आरोपित व बच्ची के स्वजन आपस में रिश्तेदार ही हैं, जो कि मूल रूप से नेपाल के रहने वाले हैं. मसूरी के थाना इंचार्ज को निर्देशित किया गया है कि मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत कार्रवाई करें.

अब पुलिस आरोपी युवक के खिलाफ मामला बनाकर कल उसे कोर्ट में पेश करेगी. एसएसपी ने बताया कि चिकित्सा परीक्षण के बाद पता चला है कि बालिका के शरीर से अधिक रक्त बहाव हुआ है. इसके चलते बालिका को देहरादून रेफर कर दिया गया था. वहीं मासूम अब खतरे से बहार बताई जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज