Assembly Banner 2021

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का बड़ा बयान- उत्तराखंड में नहीं बनेगें नये जिले, डीडीए स्थगित करने में आ रही हैं कुछ अड़चनें

अल्मोड़ा पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र रावत का स्वागत करते बीजेपी का कार्यकर्ता.

अल्मोड़ा पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र रावत का स्वागत करते बीजेपी का कार्यकर्ता.

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (CM Trivendra Singh Rawat) ने प्रदेश में नये जिलों के निर्माण को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई नये जिले (District) नहीं बनेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 6:46 PM IST
  • Share this:
अल्मोड़ा. उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने प्रदेश में जिलों के निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है. दो दिनो के अल्मोडा (Almoda) जिले के दौरे पर पहुंचे सीएम रावत ने कहा कि फिलहाल उत्तराखंड में नये जिले नहीं बनेंगे. अल्मोड़ा में रानीखेत के हैड़ाखान मंदिर के दर्शन करने के बाद सीएम सड़क मार्ग से द्वाराहाट पहुंचे, जहां पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने सीएम का भव्य स्वागत किया. यहां दो दिनों तक सीएम कार्यकर्ताओं और जनता से मुलाकात करेंगे.

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में नये जिलों को बनाने की कोई योजना अभी नहीं है. सरकार का मकसद राज्य में विकास करना है. उन्होंने कहा कि जनता की समस्या को जानने के लिए ही मैं कभी सड़क मार्ग तो कभी पैदल चला जाता हूं.

सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि जिला विकास प्राधिकरण स्थगित करने की घोषणा अल्मोड़ा से कर दी थी, लेकिन कुछ तकनीकी दिक्कतों के कारण समय लग रहा है. लेकिन इसका जल्दी ही कोई न कोई समाधान निकाल लिया जाएगा, जिससे राज्य की जनता को परेशानी ना हो. बैंक में भी ऋण लेने में कुछ दिक्कतें हो रही हैं.



पूर्णागिरि जनशताब्दी को रेल मंत्री ने दिखाई हरी झंडी, बोले-उत्तराखंड में 4200 करोड़ से ऋषिकेश-कर्णप्रयाग नई लाइन का हो रहा निर्माण

सीएम ने गिनाईं सरकार की खूबियां


सीएम ने आज द्वाराहाट में एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि राज्य की सरकार महिलाओं के लिए काम कर रही है. सभी वर्गों के लिए सरकार काम कर रही है. सड़क, स्वास्थ्य में तो पिछले चार सालों में बेहतर काम किया है. सीएम ने कहा कि सड़क मार्ग से आने पर वास्तविक विकास की स्थिति पता चलती है. गैरसैंण सत्र में जाने से पहले अगर कुछ जिलों का दौरा सड़क मार्ग से किया जाय तो जनता की राय भी जानी जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज