शिक्षक और किताबों की मांग को लेकर सड़क पर उतरे छात्र, गांधीवादी तरीकों से कर रहे हैं आंदोलन

छात्र संघ के अध्यक्ष राजेश जोशी का कहना है कि वे महाविद्यालय के सभी विभागों में शिक्षक, पुस्तकालय में वर्तमान सिलेबस की पुस्तकें और रजिस्ट्रार कार्यालय महाविद्यालय में खोलने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं. छात्रसंघ का आरोप है कि शासन-प्रशासन उनकी मांगों को लगातार नजर अंदाज कर रहा है.


Updated: July 3, 2019, 5:06 PM IST
शिक्षक और किताबों की मांग को लेकर सड़क पर उतरे छात्र, गांधीवादी तरीकों से कर रहे हैं आंदोलन
शिक्षकों-किताबों की मांगों को लेकर छात्रों का आंदोलन

Updated: July 3, 2019, 5:06 PM IST
 

उत्तराखंड से सबसे बड़े महाविद्यालयों में शुमार पिथौरागढ़ महाविद्यालय के छात्र-छात्राएं विभिन्न मांगों को लेकर पिछले 13 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. आमतौर पर छात्रों के आंदोलन में उग्रता देखने को मिलती है, लेकिन इस बार महाविद्यालय के छात्रों के आंदोलन में गांधीवादी तरीका दिख रहा है. छात्र संघ के आह्वान पर छात्रों ने महाविद्यालय में ही 12 दिनों तक धरना दिया था, लेकिन अब उनका आंदोलन परिसर की सीमाओं से बाहर निकल आया है. इस पूरे मामले की सबसे खास बात ये है कि छात्र बेहद मूलभूत मुद्दों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं. उनकी प्रमुख मांगें हैं शिक्षक और किताबें.

हाथों में तख्तियां लिए खड़े रहे सैकड़ों छात्र
सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं ने शहर में मौन जूलुस निकाला और फिर डीएम ऑफिस में हाथों में तख्तियां लिए घंटों खड़े रहे. इस दौरान सभी छात्रों ने अपने मुंह पर विरोध स्वरूप काली पट्टी भी बांध ऱखी थी.

इन मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे छात्र
छात्र संघ के अध्यक्ष राजेश जोशी का कहना है कि वे महाविद्यालय के सभी विभागों में शिक्षक, पुस्तकालय में वर्तमान सिलेबस की पुस्तकें और रजिस्ट्रार कार्यालय महाविद्यालय में खोलने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं. छात्रसंघ का आरोप है कि शासन-प्रशासन उनकी मांगों को लगातार नजर अंदाज कर रहा है. छात्रों के आंदोलन को व्यापार संघ के अलावा बार एसोसिएशन का भी समर्थन मिला है.

आंदोलन को बढता देख जिला प्रशासन ने महाविद्यालय प्रशासन ने एक दौर की वार्ता जिला प्रशासन से भी कर ली है. डीएम विजय कुमार का कहना है कि छात्रों की मांगों के समाधान के लिए छात्र संघ,जिला प्रशासन और कॉलेज प्रशासन की एक संयुक्त मीटिंग होनी हैं.
Loading...

(पिथौरागढ़ से विजय वर्धन उप्रेती)

 

ये भी पढ़ें -
सफल रहा ऑपरेशन डेयर डेविल: नंदा देवी से 7 पर्वतारोहियों के शव पिथौरागढ़ लाए गए

बरसात शुरु होते ही देहरादून के 40000 घरों पर मंडराने लगा ख़तरा

 
First published: July 3, 2019, 4:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...