Home /News /uttarakhand /

UK Election: 'हमें वोट नहीं देना, आप यहां न आएं..' टिहरी के सैकड़ों वोटरों ने खोला विधायक के खिलाफ मोर्चा

UK Election: 'हमें वोट नहीं देना, आप यहां न आएं..' टिहरी के सैकड़ों वोटरों ने खोला विधायक के खिलाफ मोर्चा

पुल का काम छह साल से न होने पर टिहरी के लोग नाराज़ हैं.

पुल का काम छह साल से न होने पर टिहरी के लोग नाराज़ हैं.

Polling Boycott : भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट (BJP Candidates' List) में टिहरी ज़िले के घनसाली विधानसभा क्षेत्र से शक्तिलाल शाह (Shaktilal Shah) को फिर टिकट दिया है, लेकिन उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं. ज़िले (Tehri District) के सीमान्त समण गांव के लोगों ने इस बार पुल पर सालों पहले दिए गए ​आश्वासन के बावजूद काम न होने के कारण विधायक (Ghanshali MLA) के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. ग्रामीणों ने 2022 विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) का बहिष्कार करते हुए नेताओं के गांव में आने पर रोक लगा दी है. देखिए पूरी रिपोर्ट.

अधिक पढ़ें ...

सौरभ सिंह
टिहरी. ज़िले की दूरस्थ विधानसभा घनसाली के सीमान्त समण गांव के लिए 2015 में सड़क निर्माण की स्वीकृति मिली थी, लेकिन आज तक लोग इसके लिए तरस रहे हैं. 2018 तक गांव में बिना पुल के सड़क निर्माण कार्य किया गया. फिर अधिकारी और ठेकेदार पुल निर्माण करना भूल गए. इसका परिणाम यह है कि ग्रामीणों को एक छोर से दूसरे छोर तक जाने के लिए करीब ढाई किलोमीटर पैदल दूरी तय करनी पड़ती है. अपनी परेशानी और यहां के मौजूदा​ विधायक की अनदेखी से नाराज़ लोगों ने अब चुनाव का बहिष्कार करने का मन बना लिया है.

भाजपा ने गुरुवार को अपने 59 प्रत्याशियों की जो सूची जारी की है, उसमें घनसाली से शक्तिलाल शाह का नाम शामिल है. शाह मौजूदा विधायक हैं, लेकिन इस क्षेत्र के करीब 1200 वोटर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए उनके खिलाफ आने के लिए कमर कस चुके हैं. समण के ग्रामीणों ने पिछले चुनाव में भी पुल को लेकर नाराजगी जताई थी और शाह ने पुल निर्माण का आश्वासन दिया था. लेकिन आज तक पुल बन नहीं पाया. अब ग्रामीणों ने स्थानीय विधायक और विधानसभा चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है.

गांव में नहीं हैं बुनियादी सुविधाएं!
सीमान्त क्षेत्र होने के चलते समण विकास की दृष्टि से पिछड़ेपन का शिकार हो रहा है. स्थानीय निवासी गणेश प्रसाद बडोनी और मालती देवी का कहना है कि शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत समस्याओं से ग्रामीण आए दिन दो चार होते हैं. पुल न होने से सबसे बड़ी परेशानी गर्भवती महिलाओं और बीमार लोगों को होती है. ग्राम प्रधान गोवर्धन प्रसाद समेत ग्रामीणों का कहना है कि वो इस बार नेताओं को गांव में घुसने नहीं देंगे, जब तक पुल का निर्माण नहीं होता.

ग्रामीणों की चेतावनी आने के मामले में मामले में एडीएम रामशरण शर्मा का कहना है कि बातचीत कर समस्या का समाधान निकालने की कोशिश की जाएगी. गौरतलब है कि टिहरी ज़िले का सीमान्त गांव होने के चलते भी समण को नेताओं और अधिकारियों की उपेक्षा ही मिलती है. इस बार ग्रामीणों ने नेताओं को सबक सिखाने की ठानी है और चुनाव बहिष्कार के साथ ही नेताओं के गांव में घुसने पर रोक लगा दी है.

Tags: BJP MLA, Uttarakhand Assembly Election, Uttarakhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर