अपना शहर चुनें

States

टिहरी जिले में एक पोल्ट्री फार्म की 150 मुर्गियों की मौत, बर्ड फ्लू की आशंका

मरी मुर्गियों की सूचना पर पोल्ट्री फार्म में पहुंची जांच टीम ने सैंपल लिए.
मरी मुर्गियों की सूचना पर पोल्ट्री फार्म में पहुंची जांच टीम ने सैंपल लिए.

17 जनवरी सुबह जब वे अपने पोल्ट्री फार्म पहुंचे तो उन्होंने देखा की अधिकतर मुर्गियां मरी पड़ी हैं, जबकि कुछ तड़प रही है. तब उन्हें बर्ड फ्लू की आशंका हुई. उन्होंने प्रशासन को इसकी सूचना दी

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 5:58 PM IST
  • Share this:
टिहरी. टिहरी जिले (Tehri district) में एक पोल्ट्री फार्म (poultry farm) में 150 मुर्गियों की मौत से क्षेत्र में दहशत का माहौल है. पोल्ट्री फार्म मालिक ने इन मुर्गियों की मौत बर्ड फ्लू (bird flu) से होने की आशंका जताई है. वहीं प्रशासन की टीम ने मुर्गियों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया है.

मुर्गियों के सैंपल लिए गए

यह पोल्ट्री फार्म टिहरी जिले के सीमान्त क्षेत्र घनसाली के धोपड़धार में है. इसके मालिक हैं शिव शरण. वे मुंबई (Mumbai) में एक होटल में काम करते थे और कोरोना काल के चलते हुए लॉकडाउन की वजह से उन्हें घर लौटना पड़ा. यहां आने के बाद उन्होंने पोल्ट्री फार्म खोली और इसी से अपनी आजीविका चला रहा थे. लेकिन 17 जनवरी सुबह जब वे अपने पोल्ट्री फार्म पहुंचे तो उन्होंने देखा की अधिकतर मुर्गियां मरी पड़ी हैं, जबकि कुछ तड़प रही है. तब उन्हें बर्ड फ्लू की आशंका हुई. उन्होंने प्रशासन को इसकी सूचना दी. इस सूचना के बाद प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग और पशु चिकित्सा टीम को मौके पर भेजा. टीम ने मौके पर पहुंचकर मरी हुई मुर्गियों के सैंपल लिए और उन्हें दफनाया.



लोन चुकाने की चिंता में डूबा पोल्ट्री फार्म मालिक
उत्तराखंड में बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन भी एलर्ट मोड पर है और एहतियात के तौर पर रैंडम सैंपलिंग की जा रही है. पोल्ट्री फार्म मालिक शिव शरण का कहना है कि बैंक लोन और अपनी जमा पूंजी उन्होंने पोल्ट्री फार्म में लगा दी है और अब करीब 100 से अधिक मुर्गियां हैं, जो बीमार अवस्था में हैं. वे धीरे-धीरे मर रही हैं. इसकी वजह रे उन्हें भारी नुकसान हो गया है और अब वे किस तरह बैंक की किस्त देंगे - यह उनके सामने एक बड़ा संकट है. वे कहते हैं कि उनके पास आमदनी का कोई दूसरा साधन भी नहीं है.

जांच के लिए सैंपल भेजे गए

वहीं मामले में एसडीएम घनसाली संदीप तिवारी का कहना है कि वन विभाग और पशु चिकित्साधिकारी की टीम द्वारा मौके पर जाकर मुर्गियों का सैंपल ले लिया गया है और मरी हुई मुर्गियों को दफना दिया गया है. सैंपल रिपोर्ट आने के बाद ही बर्ड फ्लू की पुष्टि हो पाएगी, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज