टिहरी ज़िला अस्पताल, बौराड़ी में CMS के ख़िलाफ़ धरना, CMO के दखल पर ख़त्म

ज़िला अस्पताल के डॉक्टरों-कर्मचारियों के धरने पर बैठे जाने की ख़बर फैलने के बाद सीएमओ ने दखल दिया और 15 दिन में कार्रवाई का आश्वासन दिया.

News18 Uttarakhand
Updated: June 4, 2018, 7:03 PM IST
टिहरी ज़िला अस्पताल, बौराड़ी में CMS के ख़िलाफ़ धरना, CMO के दखल पर ख़त्म
टिहरी के ज़िला अस्पताल बौराड़ी में कर्मचारी और डॉक्टर सीएमएस के ख़िलाफ़ धरने पर बैठ गए.
News18 Uttarakhand
Updated: June 4, 2018, 7:03 PM IST
ज़िला अस्पताल बौराड़ी में कर्मचारियों और डॉक्टरों ने सीएमएस पर उनके मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया है और उन्हें हटाने की मांग को लेकर कर्मचारी और डॉक्टर धरने पर बैठ गए हैं.

डॉक्टरों का कहना है कि सीएमएस डॉक्टर सीपी त्रिपाठी डॉक्टरों को अनर्गल परेशान कर रहे हैं. कभी किसी की छुट्टी रोकी जा रही है तो कभी किसी का वेतन.

डॉक्टरों के साथ धरने पर बैठे कर्मचारियों की शिकायत है कि सीएमएस कर्मचारियो के साथ बदतमीजी करते हैं. बार-बार उन्हें नौकरी से निकालने की धमकी दी जा रही है. धरनारत डॉक्टरों, कर्मचारियों ने चेतावनी दी कि अगर जल्द सीएमएस को हटाया नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा.

https://images.hindi.news18.com/ibnkhabar/uploads/2018/06/bauradi-medical-college-strike.jpg
टिहरी के ज़िला अस्पताल बौराड़ी में कर्मचारियों और डॉक्टरों ने सीएमएस पर उनके मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया और धरने पर बैठ गए.


ज़िला अस्पताल के विशेषज्ञ डॉक्टर अमित राय का कहना था कि सीएमएस के ख़िलाफ़ सीएमओ और डीजी हेल्थ तक वह शिकायत कर चुके थे और चेतावनी दी थी कि अगर सीएमएस को नहीं हटाया गया तो वह हड़ताल करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह सांकेतिक हड़ताल है.

ज़िला अस्पताल के डॉक्टरों-कर्मचारियों के धरने पर बैठे जाने की ख़बर फैलने के बाद सीएमओ ने दखल दिया और 15 दिन में कार्रवाई का आश्वासन दिया. इसके बाद डॉक्टरों ने मरीज़ों को देखना शुरू किया. इसके साथ ही अस्पताल के कर्मचारी भी काम पर लौट आए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टिहरी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 4, 2018, 7:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...