देखें VIDEO... जब गंगा किनारे घूमने निकले 2 हाथियों के बीच छिड़ गया 'युद्ध'
Tehri-Garhwal News in Hindi

देखें VIDEO... जब गंगा किनारे घूमने निकले 2 हाथियों के बीच छिड़ गया 'युद्ध'
ऋषिकेश में गंगा तट पर दो हाथियों की लड़ाई का देखें Video.

ऋषिकेश में गंगा तट पर मौसम का लुत्फ लेने निकले दो हाथियों (Elephant) के बीच जोर आजमाइश भी होने लगी, तो इसे देखने के लिए भीड़ जुट गई.

  • Share this:
ऋषिकेश. उत्तराखंड में इन दिनों मौसम सुहाना हो गया है. लॉकडाउन के बीच गर्मी कम हुई तो आम लोगों के साथ-साथ जीव-जंतुओं को भी राहत मिली है. सुहाने मौसम का असर राजाजी टाइगर रिजर्व (Rajaji Tiger Reserve) के हाथियों पर भी दिखा. लेकिन मौसम का लुत्फ लेने निकले हाथी मस्ती में दिखे. इसी दौरान गंगा तट पर दो हाथियों (Elephant) के बीच जोर आजमाइश भी होने लगी, तो इसे देखने के लिए भीड़ जुट गई. गंगाजी में दो गजराज के बीच इस युद्ध का नजारा अपने कैमरों में कैद करने और वीडियो बनाने के लिए लोगों में होड़ मच गई. लोग अलग-अलग एंगल से गुत्थम-गुत्था हो रहे दो हाथियों के बीच की इस लड़ाई को कैमरों में कैद करते दिखे. आप भी देखें यह Video.

ऋषिकेश के राजाजी नेशनल पार्क में बड़ी संख्या में हाथी रहते हैं. लॉकडाउन के दौरान पार्क के आसपास लोगों की आवाजाही कम हुई है, तो उद्यान में रहने वाले जानवरों को खुला माहौल मिला है. इस वजह से ये कई बार जंगल से निकलकर बाहरी इलाके में भी आ जाते हैं. अब जबकि लॉकडाउन में ढील दी गई है, तो आम लोगों को इन जानवरों की मस्ती देखने का मौका मिला है. इसलिए ऋषिकेश में हाथियों के झुंड से निकले दो हाथी जब गंगा तट पर सुहाने मौसम में मस्ती करते दिखे, तो लोगों की भीड़ जुट गई. आपस में युद्ध करते गजराजों को देखना बड़ा ही मनोरंजक था.





उत्तराखंड में होनी है गजराजों की गिनती



आपको बता दें कि उत्तराखंड में हाथियों की गिनती का काम शुरू किया जाना है. कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में बाघों की चौथे चरण की गणना के बाद अब हाथियों की भी गिनती की जानी है. वन विभाग अब हाथियों के कुनबे की गिनती की प्रक्रिया में जुट गया है. कॉर्बेट पार्क प्रशासन गजराजों की गिनती का काम 6, 7 और 8 जून को करेगा. पार्क में काम करने वाले कर्मचारी प्रत्यक्ष विधि यानी देख-देखकर हाथियों की गिनती करेंगे. इससे पहले साल 2014-15 में कॉर्बेट पार्क में हाथियों की गिनती का काम हुआ था. उस समय पार्क में करीब 1100 हाथी थे. इस बार की गणना के तहत नर-मादा और बच्चों के पूल बनाए जाएंगे, ताकि सबकी अलग-अलग संख्या का पता चल सके.

ये भी पढ़ें-

सब्जी मंडी सील, अब दून में गाड़ियों से की जाएगी सब्जियों की सप्लाई

जमाती, प्रवासी, मंत्री और... जानिए कौन हैं उत्तराखंड के 4 सुपर स्प्रेडर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading