टिहरी में भूस्खलन के मलबे में दबकर एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत

डीएम ने खतरे की ज़द में आने वाले मकानों की सूची बनाने के निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि चार परिवारों को सुरक्षित स्थानों में शिफ्ट करवाया गया है.

News18 Uttarakhand
Updated: August 29, 2018, 7:49 PM IST
टिहरी में भूस्खलन के मलबे में दबकर एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत
टिहरी ज़िले के कोट गांव में भूस्खलन के मलबे में दबकर ही परिवार के सात लोगों की मौत हो गई और एक बच्ची घायल है.
News18 Uttarakhand
Updated: August 29, 2018, 7:49 PM IST
टिहरी ज़िले के कोट गांव में भूस्खलन के मलबे में दबकर ही परिवार के सात लोगों की मौत हो गई और एक बच्ची घायल है. टिहरी के घनसाली में पड़ने वाले कोट गांव में भारी बारिश की वजह से भूस्खलन हो गया और इसके मलबे में एक ही घर के आठ लोग दब गए. सूचना मिलने पर प्रशासन हरकत में आया और राहत-बचाव कार्य शुरू किए गए. शाम तक मलबे से सात शव निकाल लिए गए थे और एक बच्ची घायल हो गई है.

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने टिहरी ज़िले के कोट गांव में भूस्खलन की घटना में मृतकों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए स्थानीय प्रशासन को तेजी से राहत बचाव कार्य करने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने ज़िलाधिकारी टिहरी को निर्देश दिए कि शीघ्र ही घायलों की उचित इलाज की व्यवस्था एवं अनुमन्य आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए.

ज़िलाधिकारी टिहरी सोनिका ने घटनास्थल पर जाकर राहत और बचाव कार्यों का जायजा लिया. उन्‍होंने बताया कि एसडीआरएफ व क्यूआरटी द्वारा राहत एवं बचाव कार्य किया जा रहा है.

डीएम ने खतरे की ज़द में आने वाले मकानों की सूची बनाने के निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि चार परिवारों को सुरक्षित स्थानों में शिफ्ट करवाया गया है. सभी प्रभावितों को हर सम्भव मदद देने का प्रयास किया जा रहा है.

उत्तराखंड में भूस्खलन के लिहाज से 43 क्षेत्र हैं खतरनाक

VIDEO: भूस्खलन से मसूरी में पर्यटन स्थलों का अस्तित्व खतरे में
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर