लाइव टीवी

पानी-सीवर बिलों की जबरन वसूली के ख़िलाफ़ सीएम को खून से ख़त

Saurabh Singh Tehri | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 25, 2018, 4:44 PM IST
पानी-सीवर बिलों की जबरन वसूली के ख़िलाफ़ सीएम को खून से ख़त

  • Share this:
पुरानी टिहरी विस्थापितों से पानी और सीवर के बिल जबरन वसूल किए जाने को लेकर विस्थापितों और एकता मंच के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री को खून से पत्र लिखा और पानी और सीवर के बिल माफ किए जाने की मांग की.

पुरानी टिहरी विस्थापितों ने टिहरी में प्रदर्शन किया और कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा हनुमंत राव कमेटी और विस्थापितों के साथ किए गए वायदों की अनदेखी की जा रही है.

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे आकाश कृषाली ने कहा कि विस्थापन के समय उन्हें कहा गया था कि बिजली पानी और सीवर का शुल्क उन्हें माफ होगा लेकिन अब विभाग द्वारा जबरन बिल वसूल किए जा रहे हैं जो कि विस्थापितों के साथ अन्याय है.

letter by blood

अपने आंदोलन को धार देने के लिए पुरानी टिहरी विस्थापितों ने सीएम को खून से पत्र लिखने का ऐलान किया था. प्रदर्शनकारियों ने धरनास्थल पर ही अपनी-अपनी बांह से खून निकाला और उससे सीएम को लिखे पत्र पर हस्ताक्षर किए.

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि राज्य आंदोलन के दौरान तत्कालीन उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को वे लोग खून से पत्र लिखा करते थे ताकि राज्य की मांगों को लेकर उनकी तंद्रा टूटे आज फिर उन्हें खून से अपने ही मुख्यमंत्री को पत्र लिखना पड़ रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टिहरी गढ़वाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2018, 4:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर