नंदगांव के ग्रामीणों ने अब आमरण अनशन की दी चेतावनी
Tehri-Garhwal News in Hindi

नंदगांव के ग्रामीणों ने अब आमरण अनशन की दी चेतावनी
टिहरी झील का दंश झेल रहे नंदगांव के करीब 47 परिवारों ने पुर्नवास विभाग और टीएचडीसी पर उन्हें गुमराह करने का आरोप लगाया है.

टिहरी झील का दंश झेल रहे नंदगांव के करीब 47 परिवारों ने पुर्नवास विभाग और टीएचडीसी पर उन्हें गुमराह करने का आरोप लगाया है.

  • Share this:
टिहरी झील के कारण भूस्खलन और भूधसांव के चलते वर्षों से नंदगांव के ग्रामीण विस्थापन की मांग कर रहे हैं लेकिन पुर्नवास विभाग द्वारा लगातार गुमराह किया जा रहा है.

ग्रामीणों ने पुर्नवास विभाग में क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है और आमरण अनशन की चेतावनी दी है. वर्ष 2012 से टिहरी झील के घटते बढ़ते जलस्तर के चलते झील से सटे नंदगांव में भारी भूस्खलन और भूधसांव हो रहा है जिस कारण ग्रामीणों के कई मकान पूरी तरह से टूट चुके हैं और कुछ टूटने की कगार पर हैं.

टिहरी झील के घटते बढ़ते जलस्तर के कारण भूस्खलन और भूधसांव के चलते कई मकानों में दरारें आ चुके हैं जिससे ग्रामीण डर के साये में जीने को मजबूर है. विस्थापन की मांग को लेकर नंदगांव के ग्रामीणों ने धरना प्रदर्शन चक्काजाम भी किया लेकिन हर बार उन्हें कभी 6 माह और कभी 8 माह में विस्थापन का आश्वासन मिला लेकिन आज तक विस्थापन नहीं हो सका.



टिहरी झील का दंश झेल रहे नंदगांव के करीब 47 परिवारों ने पुर्नवास विभाग और टीएचडीसी पर उन्हें गुमराह करने का आरोप लगाया है.ग्रामीणों का कहना है कि हर बार उन्हें सिर्फ झूठा आश्वासन दिया जाता है. ग्रामीणों ने डीएम के माध्यम से सीएम को भेजे पत्र में कहा है कि यदि अब उनकी मांगों पर कोई सकारात्मक पहल नहीं कि गई तो ग्रामीण पुर्नवास विभाग के कार्यालय के बाहर अपने पूरे परिवार के साथ आमरण अनशन शुरू कर देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज