बिना संसाधनों के आग बुझाने में जुटे है वन विभाग और पुलिस के जवान
Pauri-Garhwal News in Hindi

बिना संसाधनों के आग बुझाने में जुटे है वन विभाग और पुलिस के जवान
गर्मियां आते ही देवभूमि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है.प्रदेश के सबसे बड़े 15 विकास खंड़ो वाले जनपद पौड़ी का शायद ही कोई हिस्सा ऐसा होगा जहां आग ने ताड़व न मचाया हो.

गर्मियां आते ही देवभूमि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है.प्रदेश के सबसे बड़े 15 विकास खंड़ो वाले जनपद पौड़ी का शायद ही कोई हिस्सा ऐसा होगा जहां आग ने ताड़व न मचाया हो.

  • Share this:
गर्मियां आते ही देवभूमि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है.प्रदेश के सबसे बड़े 15 विकास खंड़ो वाले जनपद पौड़ी का शायद ही कोई हिस्सा ऐसा होगा जहां आग ने ताड़व न मचाया हो.हालांकि जंगलों में लगी भीषण आग को देखते हुए एसडीआरएफ और पुलिस बलों को आग बुझाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

लेकिन संसाधनों की कमी के चलते उनके प्रयास भी नाकाफी ही साबित हो रहे है.जनपद पौड़ी के जंगलों लगी आग से एख ओर जहां 2 लोगों की झुलस कर मौत हो गई है वहीं दूसरी ओर एक दर्जन से अधिक जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे है.

जनपद पौड़ी के जंगलों में इन दिनों लगी भीषण आग ने ताड़व मचाया हुआ है.जनपद पौड़ी के अंतर्गत कार्बेट पार्क,कालागढ़ टाईगर रिजर्व,लैंसडाउन डिवीजन के साथ ही गढ़वाल वन प्रभाग और राजाजी टाईगर रिजर्व के जंगल धू-धू कर जल रहे है.



जनपद पौड़ी में सरकारी आंकड़ो के अनुसार जंगलों में लगी आग की घटनाएं हो चुकी है जिससे हेक्टेअर जंगल जल कर खाक हो गए हैं.भीषण गर्मी में जल रहे जंगलों से एक ओर जहां करोड़ो की वन सम्पदा जलकर खाक हो गई है वहीं दूसरी ओर आग पर काबू पाने के दशकों पुराने संसाधनों की पोल भी खुल गई है.
जनपद पौड़ी के जंगलों में लगी भीषण आग का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस पर काबू पाने में पूरी तरह से नाकाम रहने के बाद अब एनडीआरएफ के जवानों के साथ ही पुलिसकर्मियों को भी लगा दिया गया है जो भीषण गर्मी में जंगलों में आग बुझाने में जुटे है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading