लॉकडाउन के बीच पुलिस ने शादी के लिए दी चंद घंटे की छूट, दूल्‍हा-दुल्‍हन ने फटाफट लिए 7 फेरे
Dehradun News in Hindi

लॉकडाउन के बीच पुलिस ने शादी के लिए दी चंद घंटे की छूट, दूल्‍हा-दुल्‍हन ने फटाफट लिए 7 फेरे
आखिरकार दांपत्‍यसूत्र में बंध गए नेहा और मयंक.

नेहा और मयंक की शादी (Marriage) से संबंधित सभी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी थीं. अब बस 13 अप्रैल का इंतजार था. नेहा और मयंक का यह इंतजार पूरा होता, इससे पहले देश में 21 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा हो गई.

  • Share this:
देहरादून. आखिरकार यह तय हुआ कि 13 अप्रैल को सहारनपुर (Saharanpur) की नेहा और देहरादून (Dehradun) के मयंक की शादी धूमधाम से संपन्‍न होगी. इस शादी को यादगार बनाने के लिए दोनों परिवार तैयारियों में जुट गए. नेहा की मां नहीं चाहती थीं कि उनकी बेटी की शादी में किसी तरह की कमी रहे. लिहाजा वह वर पक्ष के पसंद की शॉपिंग करने के लिए अपने एक रिश्‍तेदार के घर देहरादून पहुंच गईं. शादी की सभी तैयारियां अपने अंतिम चरण में थीं, तभी पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा हो गई.

चूंकि नेहा और मयंक की शादी 13 तारीख को होनी थी और लॉकडाउन 14 अप्रैल को खुलने वाला था, लिहाजा दांपत्‍य सूत्र में बंधने जा रहे जोड़े का दिल बैठने लगा था. जैसे-जैसे तारीख नजदीक आ रही थी, दोनों पर‍िवारों के दिल की धड़कनें बढ़ती जा रही थीं. कहीं से कोई उपाय न होता देख, आखिरकार दोनों परिवारों ने फोन कर अपने रिश्‍तेदारों को शादी टालने की सूचना देना शुरू कर दिया. अब तक, पंडित जी से शादी का दूसरा शुभ मुहूर्त देखने के लिए भी कह दिया गया था. इधर, पंडित जी ने भी दोटूक कह दिया था कि इस मुहूर्त में शादी नहीं हुई, तो अक्‍टूबर तक कोई दूसरा शुभ लग्न नहीं है.

दूल्हा-दुल्हन के पिता नहीं
नेहा और मयंक के पिता नहीं हैं. मुहूर्त को लेकर पंडित ने भी अपनी बात कह ही दी थी, लिहाजा दोनों परिवारों ने इसी मुहूर्त में शादी करने का फैसला लिया. अब इस बात पर विचार होने लगा कि आखिरकार शादी कैसे हो. लंबी जद्दोजहद के बाद नेहा के एक रिश्‍तेदार ने उसका परिचय स्‍थानीय बीजेपी नेता शिवानी कश्‍यप से करवाया. शिवानी ने विधायक गणेश जोशी और देहरादून के एसएसपी अरुण मोहन जोशी से इस बारे में बात की. एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने सशर्त शादी की इजाजत दी. एसएसपी ने स्‍पष्‍ट कर दिया था कि शादी में 10 से ज्‍यादा लोग शामिल नहीं होंगे और शादी की रस्‍मों को कुछ ही घंटों में पूरा करना होगा.
शर्त पर भरी हामी और हो गई शादी


देहरादून पुलिस ने शादी को लेकर मंजूरी जैसे ही दी, मयंक ने फटाफट शेरवानी पहनी, अपना स्‍कूटर उठाया और निकल गया नेहा के घर की तरफ. पीछे से उसके एक रिश्‍तेदार भी पंडित जी को लेकर नेहा के घर पहुंच गए. सुबह 7 बजे शादी की रस्‍में शुरू हो गईं. दोनों ने फटाफट फेरे लिए और 11 बजे तक नेहा और मयंक दांपत्‍य सूत्र में बंध गए. धूमधाम से शादी करने के अरमानों पर भले ही पानी फिर गया, लेकिन नेहा और मयंक इस बात से बेहद खुश हैं कि कम से कम तय समय पर दोनों जीवन की एक डोर से जरूर बंध गए. लॉकडाउन के बीच पुलिस की शर्तों पर हुई अपनी शादी, उनके लिए यादगार रहेगी.

ये भी पढ़ें :-

अब लॉकडाउन का उल्लंखन करने वालों की खैर नहीं, होगी कड़ी कार्रवाई

COVID-19: साहब, क्‍या हुआ हमारा पेट खाली है, संतोष है कि हमारी वजह से लाखों का
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज