तीरथ स‍िंह रावत का 'फटी जींस' के बाद 'हाफ कट' वाला बयान सोशल मीडिया पर वायरल, जानें CM ने क्‍या सुनाया था क‍िस्‍सा


मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के फटी जींस वाले बयान की खूब आलोचना हो रही है. वहीं उनका एक और बयान सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रहा है.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के फटी जींस वाले बयान की खूब आलोचना हो रही है. वहीं उनका एक और बयान सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रहा है.

Uttarakhand News: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा था क‍ि टीवी में देखा बढ़िया सी जीन्स का एडवर्टाइजमेंट, तो दूसरे दिन वही आ जाती है. पहली पसंद होती है फटी हुई जींस. साथ ही जिसने फटी हुई जींस पहनी वो बड़े बाप का बेटा हो गया. पिता जी भी पहले पापा अब डैड हो गए. सीफटी हुई जींस पहनना स्टेटस सिंबल हो गया है.

  • Share this:
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के फटी जींस वाले बयान की खूब आलोचना हो रही है. वहीं उनका एक और बयान सोशल मीड‍िया पर वायरल हो रहा है. इसमें वह अपने साथ कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा के कपड़ों को लेकर एक क‍िस्‍सा लोगोंं को बता रहे हैं. बताया जा रहा है यह उसकी कार्यक्रम का वीड‍ियो ज‍िसमें मुख्‍यमंत्री ने फटी जींस को लेकर बयान द‍िया था. वहीं बीजेपी सीएम के बयान पर डैमेज कंट्रोल में जुट गई है. गुरुवार को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को जब मीडियाकर्मियों ने पूछा तो कौशिक का कहना था कि सीएम के बयान को गलत ढंग से पेश किया गया. सीएम का मतलब संस्कारों से था, लेकिन कौशिक भी सफाई में इससे ज्यादा कुछ बोल नहीं पाए. सीएम ऑफिस या सरकार की ओर से सफाई में अभी कोई बयान नहीं आया है.

क्‍या है नया बयान

सीएम तीरथ स‍िंह रावत कह रहे हैं कि जब वह गढ़वाल विवि श्रीनगर में पढ़ते थे, तो चंडीगढ़ से एक लड़की, जो पहाड़ की ही थी श्रीनगर पढ़ने आ गई. सीएम ने उसके कपड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि उसके हाफ कट. पहली बार नया-नया फैशन तो उसे लड़के ऐसे देख रहे थे कि बस आ गई मुंबई से कोई. उसका कुछ दिन ऐसा मजाक बना ऐसा मजाक, क्येांकि सारे पीछे भागना शुरू कर दिए. यूनिवर्सिटी में पढ़ने आए हो और बदन दिखा रहे हो.

आखिर क्या फटी जींस वाला विवादित बयान?
18 मार्च को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग के एक सम्मेलन में बोल रहे थे. सब्जेक्ट था "बच्चों में बढ़ती नशे की प्रवृति, रोकथाम और पुर्नवास". सीएम ने कहा क‍ि इसके लिए सभी को आगे आना होगा. उन्होंने कहा कि बच्चों को नशे की ओर ले जाने के लिए उसे दिए जा रहे संस्कार जिम्मेदार हैं. बच्चा जैसा देखता है, सुनता है, वैसा ही बन जाता है. उन्होंने युवाओं और खासकर युवतियों, महिलाओं के फटी जींस पहनने पर कमेंट करता हुआ कि ऐसे में बच्चे क्या सीखेगा? तीरथ सिंह रावत ने लगे हाथ फटी जींस पहनने वाली एक एनजीओ संचालक महिला और कम कपड़े पहनने वाली युवतियों का उदाहरण भी दे डाला.

सीएम ने कहा, "टीवी में देखा बढ़िया सी जीन्स का एडवर्टाइजमेंट, तो दूसरे दिन वही आ जाती है. पहली पसंद होती है फटी हुई जींस. साथ ही जिसने फटी हुई जींस पहनी वो बड़े बाप का बेटा हो गया. पिता जी भी पहले पापा अब डैड हो गए. सीफटी हुई जींस पहनना स्टेटस सिंबल हो गया है." उन्होंने अपनी एक हवाई यात्रा का जिक्र करते हुए कहा, "मैं एक दिन हवाई जहाज से जयपुर से आ रहा था. मेरे बगल में एक बहनजी बैठी थी. मैंने उनकी तरफ देखा नीचे गम बूट थे. जब और ऊपर देखा तो जींस घुटने से फटी हुई थी. 2 बच्चे उनके साथ में थे. महिला एनजीओ चलाती है. समाज के बीच में जाती हो. क्या संस्कार दोगे?"

बयान पर ट्रोल हुए सीएम



सीएम का यह बयान देशभर में जमकर ट्रोल हो रहा है. अभिनेता अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नंदा से लेकर एक्टिविस्ट, राजनेता, युवक, युवतियां से लेकर तमाम लोग पहनावे को लेकर दिए गए सीएम के बयान की कड़ी निंदा कर रहे हैं. फेसबुक, इंस्टाग्राम, टविटर समेत तमाम सोशल मीडिया साइट इससे अटी पड़ी हैं.

क्‍या है बीजेपी की सफाई

वो पाश्चात्य सभ्यता के आधुन‍िकरण पर बोलने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन लोगों को ये रास नहीं आया. इधर, बीजेपी की आईटी विंग भी सक्रिय हो गई है.आईटी विंग #मेरी बेटी मेरी शान से हैशटैग से लगातार कमेंट कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज