Home /News /uttarakhand /

उत्तराखंड: चुनाव से पहले तेज हुई बीजेपी-कांग्रेस की जुबानी जंग, MLA राजेश शुक्ला को बताया भगोड़ा

उत्तराखंड: चुनाव से पहले तेज हुई बीजेपी-कांग्रेस की जुबानी जंग, MLA राजेश शुक्ला को बताया भगोड़ा

Uttarakhand: बेहड़ पर रुदपुर विधानसभा से भागने का आरोप लगा रहें हैं.

Uttarakhand: बेहड़ पर रुदपुर विधानसभा से भागने का आरोप लगा रहें हैं.

Uttarakhand Assembly News: तिलक राज बेहड़ ने विधायक शुक्ला पर पलटवार करते हुए कहा कि विधायक शुक्ला का भगोड़ा कहना उनका बड़पन बता रहा है. उन्होंने कहा कि किच्छा में उनके आने से आपत्ति है तो चुनाव आयोग में दर्ज कराए. बता दें कि किसी भी राजनीतिक दल के लिए ऊधम सिंह नगर की 9 विधानसभा सीटें सत्ता में काबिज होने की चाबी रही हैं. तराई में जैसे जैसे चुनावी सियासी सरगर्मी बढ़ेगी वैसे वैसे नेताओं के एक दूसरे पर शब्दों के हमले उतने ही आक्रामक होते नज़र आएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    कमलेश भट्ट/ ऊधमसिंह नगर. उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) नजदीक आते आते देख भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) के नेताओं में एक दूसरे पर शब्दों के बाण चलने लगें हैं. खासकर तराई विधानसभा क्षेत्रों में नेता कई बार शब्दों की सीमाओं को पार करते हुए दिखे रहें हैं. 2017 में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को हराने वाले किच्छा विधायक राजेश शुक्ला कभी रुदपुर के विधायक रहें. कांग्रेस के कार्यकारणी प्रदेश अध्यक्ष तिलक राज बेहड़ की लगातार बढ़ती राजनीतिक सरगर्मी रास नहीं आ रही है. तभी तो किच्छा विधानसभा क्षेत्र में 2022 अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहें बेहड़ विधायक राजेश शुक्ला को भगोड़ा करार दे रहें हैं और बेहड़ पर रुदपुर विधानसभा से भागने का आरोप लगा रहें हैं.

    इधर अपनी पुरानी विधानसभा रुदपुर छोड़ किच्छा विधानसभा क्षेत्र के गांव गांव घूम रहे कर चुनाव की तैयारी कर रहें. तिलक राज बेहड़ ने विधायक शुक्ला पर पलटवार करते हुए कहा कि विधायक शुक्ला का भगोड़ा कहना उनका बड़पन बता रहा है. उन्होंने कहा कि किच्छा में उनके आने से आपत्ति है तो चुनाव आयोग में दर्ज कराए. बता दें कि किसी भी राजनीतिक दल के लिए ऊधम सिंह नगर की 9 विधानसभा सीटें सत्ता में काबिज होने की चाबी रही हैं. तराई में जैसे जैसे चुनावी सियासी सरगर्मी बढ़ेगी वैसे वैसे नेताओं के एक दूसरे पर शब्दों के हमले उतने ही आक्रामक होते नज़र आएंगे.

    कंफ्यूजन पड़ सकता है कांग्रेस नेताओं पर भारी
    कांग्रेस नेताओं का ये रणनीतिक कंफ्यूजन पार्टी के लिए बेहतर संकेत नहीं हैं. ये कंफ्यूजन 2022 के लिए पार्टी की रणनीति को कमजोर कर सकता है. इस कंफ्यूजन का फायदा सत्तारूढ़ बीजेपी साफ-साफ तौर पर उठा सकती है.

    बीजेपी ने साधा निशाना
    चुनावी वादों के मुद्दो पर कांग्रेस नेताओं की अलग-अलग राय से सत्तारूढ़ बीजेपी को राजनीतिक हमले का मौका मिल गया है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि कांग्रेस 10 साल तक राज्य की सत्ता में रह चुकी है. लेकिन कांग्रेस ने कोई वादा पूरा नहीं किया. 2022 में जनता कांग्रेस के झूठ के झांसे में नहीं आने वाली. भगत ने कांग्रेस नेताओं को नसीहत दी है कि पहले तय कर लें कि जनता से कहेंगे क्या फिर अपना मुंह खोलें.

    Tags: Amit shah, BJP, Chief Minister Uttarakhand, CM Pushkar Singh Dhami, Election News, Harish rawat, Uttrakhand ki news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर