डीजे बजाने के विवाद में वृद्ध की हुई मौत, शव के साथ सड़क जाम करने वालों को पुलिस ने खदेड़ा

डीजे बजाने को लेकर ऊधमसिंह नगर में काशीपुर के खड़कपुर देवीपुरा में हुए विवाद के बाद हुई वृद्ध की मौत से लोग आक्रोशित हैं.

Govind Patni | News18 Uttarakhand
Updated: July 29, 2019, 9:13 PM IST
डीजे बजाने के विवाद में वृद्ध की हुई मौत, शव के साथ सड़क जाम करने वालों को पुलिस ने खदेड़ा
ऊधमसिंह नगर - शव के साथ सड़क जाम कर रहे लोगों को पुलिस खदेड़ा
Govind Patni
Govind Patni | News18 Uttarakhand
Updated: July 29, 2019, 9:13 PM IST
डीजे बजाने को लेकर ऊधमसिंह नगर में काशीपुर के खड़कपुर देवीपुरा में हुए विवाद के बाद हुई वृद्ध की मौत से लोग आक्रोशित हैं. मामले में पुलिस से कार्रवाई की मांग करते हुए आक्रोशित लोगों ने शव को खड़कपुर देवीपुरा मार्ग के बीचो बीच रखकर जाम लगा दिया. पुलिस अधिकारियों द्वारा लगभग दो घंटे तक समझाने-बुझाने के बाद भी आक्रोशित लोग नहीं माने. आख़िरकार पुलिस को बल प्रयोग कर लोगों को खदेड़ना पड़ा. बता दें कि रविवार की रात्रि डीजे बजाने को लेकर एक परिवार का सामने के पड़ोसी से झगड़ा हो गया. इस दौरान हुई मारपीट में बचाव को आए वृद्ध व्यक्ति लाखन धक्का-मुक्की में गिर पड़े. इस वजह से उन्हें गंभीर रूप से चोट लगी और फिर इलाज के दौरान अस्पताल में उनकी मौत हो गई.

पुलिस को करना पड़ा बल प्रयोग

पोस्टमार्टम की कार्रवाई होने के बाद सोमवार को लोग शव को साथ लेकर खड़कपुर देवीपुरा स्थित चौराहे पर पहुंच गए और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे. आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया. सूचना मिलने के बाद अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. जगदीश चंद्र भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए. काफी देर तक लोगों को समझाया गया पर वे नहीं माने. आखिरकार तहसीलदार विपिन चंद्र पंत के मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस ने बल प्रयोग कर लोगों को खदेड़ दिया.

जाम लगाने वालों के खिलाफ दर्ज होगा मुकदमा

घटना के संदर्भ में काशीपुर के एएसपी जगदीश चंद्र ने कहा कि जाम लगाने वाले मुआवजा दिए जाने की मांग कर रहे थे. उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस द्वारा कार्रवाई पहले ही की जा चुकी थी. एफआईआर के साथ ही एससीएसटी एक्ट और आईपीसी की धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया जा चुका था. उन्होंने कहा कि मामले में एक आरोपी को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया गया है. उन्होंने कहा कि मुआवजा की उनकी मांग असंवैधानिक थी. इसीलिए उनसे सड़क पर से जाम हटाने का अनुरोध किया गया. लेकिन जब वहां से लोग नहीं हटे तब पुलिस द्वारा उन्हें बलपूर्वक हटाया गया. एएसपी ने कहा कि जाम लगाने में जितने भी लोग शामिल थे उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा.

ये भी पढ़ें - BJP ने सगंठन मजबूत करने की कांग्रेस की कोशिशों को नकल बताया

ये भी पढ़ें - उत्तराखंड: इस कानून से भूजल का अंधाधुंध दोहन होगा बंद
First published: July 29, 2019, 9:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...