Home /News /uttarakhand /

भारत-नेपाल सीमा पर एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान

भारत-नेपाल सीमा पर एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान

चम्पावत व ऊधमसिंह नगर के भारत नेपाल सीमा पर 57 वीं वाहिनी एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान चल रहा है, जिसमें सीमा की सुरक्षा के साथ सीमा पिलरों व अतिक्रमण का भी जायजा लिया जा रहा है.

चम्पावत व ऊधमसिंह नगर के भारत नेपाल सीमा पर 57 वीं वाहिनी एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान चल रहा है, जिसमें सीमा की सुरक्षा के साथ सीमा पिलरों व अतिक्रमण का भी जायजा लिया जा रहा है.

चम्पावत व ऊधमसिंह नगर के भारत नेपाल सीमा पर 57 वीं वाहिनी एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान चल रहा है, जिसमें सीमा की सुरक्षा के साथ सीमा पिलरों व अतिक्रमण का भी जायजा लिया जा रहा है.

चम्पावत व ऊधमसिंह नगर के भारत नेपाल सीमा पर 57 वीं वाहिनी एसएसबी का सालाना पेट्रोलिंग अभियान चल रहा है, जिसमें सीमा की सुरक्षा के साथ सीमा पिलरों व अतिक्रमण का भी जायजा लिया जा रहा है.

बता दें कि नेपाल सीमा पर टनकपुर से लेकर मेलाघाट तक की उन्तीस किलोमीटर का जिम्मा 57 वीं वाहिनी अमृतपुर के सुपुर्द किया गया है. वहीं दो दिनों के पेट्रोलिंग अभियान में सेना पिलरों के चिन्हांकन के साथ अतिक्रमण का मैप भी तैयार कर रही है, जिसमें सीमा पर हर पांच किलोमीटर के दायरे में स्थापित बीओपी चैक पोस्टों का भी निरीक्षण किया जा रहा है.

जहां माओवादी गतिविधियों में विराम लगने के बाद सीमा सुरक्षा की दृष्टिकोण से भारत नेपाल की सीमा शांत मानी जाती रही है, तो वहीं उत्तराखण्ड की सीमा पर एसएसबी की तैनाती 2001 में हुई थी, जिसमें खुली सीमा की सुरक्षा का जिम्मा संभालने के बाद तस्करी के स्तर में भी काफी कमी आ गई है.

मामले में एसएसबी कमान्डेन्ट का कहना है कि आने वाले समय में सीमा पर चैकप्‍वाइंट का कार्य पूरा होने के बाद सीमा की हर गतिविधियों पर सेना की पैनी नजर रहेगी.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर