5 लोगों को मौत के घाट उतार चुके हाथियों को ट्रेंक्यूलाइज करने के लिए वन विभाग ने कमर कसी

Pooran Singh Rawat | News18 Uttarakhand
Updated: July 4, 2019, 2:56 PM IST
5 लोगों को मौत के घाट उतार चुके हाथियों को ट्रेंक्यूलाइज करने के लिए वन विभाग ने कमर कसी
ऊधमसिंह नगर - उत्पात मचा रहे दो टस्कर

ये दोनों टस्कर अब तक एक वनकर्मी सहित 5 लोगों को मौत के घाट उतार चुके हैं.

  • Share this:
पीलीभीत के जंगल से भटक कर यूपी और उत्तराखंड के सीमावर्ती गांवों में उत्पात मचाने वाले दोनों टस्कर (नर दंतैल हाथी) को ट्रेंकुलाइज किया जाएगा. इन्हें यूपी और उत्तराखंड वन विभाग की संयुक्त टीम ट्रेंकुलाइज करेगी. बता दें कि ये दोनों टस्कर अब तक एक वनकर्मी सहित 5 लोगों को मौत के घाट उतार चुके हैं.  तराई केंद्रीय वन प्रभाग में तैनात वन्य जीव संस्थान से प्रशिक्षित एक वरिष्ठ पशु चिकित्सक के नेतृत्व में ट्रेंकुलाइज गन के साथ 4 सदस्यीय उत्तराखंड वन विभाग के अधिकारियों का एक दल बरेली के शीशगढ़ क्षेत्र में पंहुच गया है. बरेली के शीशगढ़ क्षेत्र में मौजूद इन दोनों टस्कर को आज यूपी और उत्तराखंड वन विभाग की संयुक्त टीम के अधिकारी और पशु चिकित्सक ट्रेंकुलाइज करेंगे.

बताया जा रहा है कि इन दोनों टस्करों को ट्रेंकुलाइज करने बाद इन्हें जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क के ढिकाला जोन अथवा पीलीभीत टाइगर रिजर्व में सुरक्षित छोड़ने की योजना वन विभाग के अधिकारियों द्वारा बनाई जा रही है.

प्राकृतिक वास में सुरक्षित छोड़ दिया जाएगा
तराई केंद्रीय वन प्रभाग उत्तराखंड के डीएफओ आरके सिंह ने कहा कि ट्रेंकुलाइज करने के लिए वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट के प्रशिक्षित पशु चिकित्सक होते हैं. इसके अलावा हमारे और भी एक्सपर्ट जो नेशनल पार्क में हैं उन्हें बुलाया जाता है. इन जानवरों की गतिविधियों को ट्रैक करते हुए जो सबसे सुरक्षित जगह होती है वहीं पर इन्हें ट्रेंकुलाइज करने का प्रयास किया जाता है. ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि इन जानवरों को कोई नुकसान न हो और वन विभाग इन्हें इनके प्राकृतिक वास में सुरक्षित छोड़ सके.

ये भी पढ़ें - रुद्रपुर में दो हाथियों की मौजूदगी के चलते दहशत का माहौल

ये भी पढ़ें - रुद्रपुर पहुंचे टस्कर हाथियों का तांडव, एक को कुचलकर मारा...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊधमसिंह नगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 2:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...