Home /News /uttarakhand /

'ऑपरेशन 555 पतरामपुर' के तहत सभी मिसाइलें नो मैन्स लैंड में की जाएंगी निष्क्रिय

'ऑपरेशन 555 पतरामपुर' के तहत सभी मिसाइलें नो मैन्स लैंड में की जाएंगी निष्क्रिय

ऊधमसिंहनगर - नो मैन्स लैंड में मिसाइलों को किया जायेगा निष्कृय.

ऊधमसिंहनगर - नो मैन्स लैंड में मिसाइलों को किया जायेगा निष्कृय.

21 दिसंबर वर्ष 2004 में काशीपुर की एसजी स्टील फैक्ट्री में स्क्रैप गलाने के दौरान स्क्रैप में लाई गई एक मिसाइल के फटने से फैक्ट्री के एक श्रमिक की मौत हो गई थी.

    जनपद ऊधमसिंहनगर के पतरामपुर में जमीन के नीचे दबा कर रखे 555 जिंदा मिसाइलों को निकालने के काम में लखनऊ से आई सेना की टीम जुटी हुई है. सेना की काउंटर एक्सप्लोसिव डिवाइस यूनिट के जवान अब तक 35 मिलाइलों को जमीन के नीचे से निकाल चुके हैं. मिसाइलों को निकालने और निष्क्रिय करने के इस पूरे ऑपरेशन का नाम 'ऑपरेशन 555 पतरामपुर' रखा गया है.

    सेना की काउंटर एक्सप्लोसिव डिवाइस यूनिट के जवान सबसे पहले जमीन में दबा कर रखी गई सभी मिसाइलों को बाहर निकालेंगे. इसके बाद जसपुर की फीका नदी के एक किलोमीटर नो मैन्स लैंड में मिसाइलों को निष्क्रिय किया जाएगा.

    बता दें कि 21 दिसंबर वर्ष 2004 में काशीपुर की एसजी स्टील फैक्ट्री में स्क्रैप गलाने के दौरान स्क्रैप में लाई गई एक मिसाइल के फटने से फैक्ट्री के एक श्रमिक की मौत हो गई थी. इसके बाद फैक्ट्री परिसर से बरामद 555 जिंदा मिसाइलों को प्रशासन ने एहतियात के तौर पर सेना की मदद से पतरामपुर पुलिस चौकी के पीछे जमीन में दबा कर रख दिया था.

    ऊधमसिंहनगर के एसएसपी सदानंद दाते ने कहा कि मिसाइलों को बाहर निकालकर उन्हें पुलिस और सेना की देखरेख में सुरक्षित जगह पर ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जहां पर इन मिसाइलों को निष्कृय किया जाना है उस क्षेत्र में जाने से सभी को प्रतिबंधित किया गया है. उन्होंने कहा कि जल्दी ही सभी मिसाइलों को नष्ट कर दिया जाएगा.

    यह देखें - VIDEO: शोधार्थियों ने कहा- हिन्दी ही नहीं बाकी भाषाओं पर भी है संकट

    यह पढ़ें - 27 साल बाद पत्नी का हत्यारा चढ़ा पुलिस के हत्थे

    Tags: Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर