लाइव टीवी

पंचायत चुनाव: काशीपुर में प्रत्याशी के नामांकन के दौरान लगे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने के आरोप

Govind Patni | News18 Uttarakhand
Updated: September 26, 2019, 11:47 AM IST
पंचायत चुनाव: काशीपुर में प्रत्याशी के नामांकन के दौरान लगे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने के आरोप
काशीपुर में वीएचपी कार्यकर्ताओं ने एएसपी से वायरल वीडियो की जांच की मांग की.

विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ताओं ने इसे बेहद गंभीर मामला बताते हुए एएसपी से मांग की कि इस वीडियो की गहनता से जांच की जाए.

  • Share this:
काशीपुर. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के नामांकन ख़त्म हो गए हैं और स्क्रूटनी का काम चल रहा है. इसके साथ सभी प्रत्याशी प्रचार में भी जुट गए हैं और राजनीतिक हथकंडे भी अपनाए जाने लगे हैं. काशीपुर (Kashipur) में प्रधान पद के उम्मीदवार (Candidate) पर उनके काफ़िले में ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे (Pakistan Zindabad Slogans) लगाए जाने का आरोप है. यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल (Video Viral) हो रहा है. इसके बाद विहिप (VHP) भी इस मामले में कूद गया और एएसपी से इस मामले की जांच करवाने की मांग की. उधर वीडियो बनाने वाला युवक खुद को निर्दोष बता रहा है.

पाकिस्तान ज़िंदाबाद नहीं, शांति प्रधान जिंदाबाद 
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो काशीपुर के गांव बावरखेड़ा प्रधान पद प्रत्याशी फ़िरोज़ आलम के नामांकन का है. फ़िरोज़ आलम पूर्व प्रधान सरफ़राज़ आलम के भाई हैं. नामांकन के लिए जाते समय उनके एक समर्थक इक़रार अली ने फ़ेसबुक लाइव किया था. यह वीडियो उसी फ़ेसबुक लाइव का है.



आरोप है कि इस वीडियो में ढोल की आवाज़ के साथ ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ की भी आवाज़ सुनाई देती है. हालांकि फ़ेसबुक लाइव करने वाले इक़रार अली इसे साबित करने की चुनौती दे रहे हैं. अपने साथियों के साथ थाना आईटीआई एएसपी ऑफ़िस पहुंचे इक़रार ने कहा कि वीडियो में दो बार छोटू प्रधान जिंदाबाद और एक बार शांति प्रधान ज़िंदाबाद के नारे लगाए गए हैं. वह यह स्वीकार करते हैं कि पहली बार उन्हें भी पाकिस्तान ज़िंदाबाद का भ्रम हो गया था, लेकिन कई बार सुनने के बाद यह साफ़ हो पाया.

राजनीतिक साज़िश
इक़रार अली कहते हैं कि जानबूझकर यह वीडियो वायरल किया जा रहा है और यह एक साज़िश है. उन्होंने एएसपी जगदीश चंद्र से आग्रह किया कि वह इस मामले की जांच करवाएं और सच्चाई को सामने लाएं.वीडियो के वायरल होने के बाद विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी आईटीआई थाने पहुंच गए. उन्होंने इसे बेहद गंभीर मामला बताते हुए एएसपी से मांग की कि इस वीडियो की गहनता से जांच की जाए. एएसपी ने इस मामले की गंभीरता से जांच करवाने का वादा किया.

ये भी देखें: 

दो से ज़्यादा बच्चे वाले नहीं लड़ पाएंगे क्षेत्र पंचायत, ज़िला पंचायत चुनाव... यह है वजह

इस बार युवा शक्ति के साथ पंचायत चुनाव में उतरा है उत्तराखंड क्रांति दल, बेहतर प्रदर्शन का दावा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऊधमसिंह नगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 25, 2019, 7:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर